UTTRAKHAND NEWS

Big breaking :-पीजी कोर्स के लिए 50 डॉक्टरों ने छोड़ी नौकरी, इलाज का संकट

पीजी कोर्स के लिए 50 डॉक्टरों ने छोड़ी नौकरी, सीएचसी, पीएचसी में मरीजों के इलाज का संकटस्वास्थ्य विभाग की ओर से जिले के कई अस्पतालों में डॉक्टर तैनात किए गए थे, इनमें से 50 से अधिक ने नौकरी छोड़ दी है। डॉक्टरों की कमी के चलते सीएचसी, पीएचसी में मरीजों के इलाज का संकट खड़ा हो गया है। नए डॉक्टरों की तैनाती को लेकर सीएमओ ने मुख्यालय को प्रस्ताव भेजा

राज्य के मेडिकल कॉलेजों से एमबीबीएस की पढ़ाई करने के बाद स्वास्थ्य विभाग में नौकरी करने वाले 50 से अधिक डॉक्टरों ने पीजी कोर्स करने के लिए नौकरी छोड़ दी है। जिसके चलते उप जिला अस्पतालों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में परेशानियां बढ़ गई हैं।

सीएमओ डॉ. मनोज कुमार उप्रेती का कहना है कि डॉक्टरों की कमी को दूर करने के लिए प्रस्ताव स्वास्थ्य महानिदेशालय को भेजा जा चुका है। स्वास्थ्य विभाग के ही आंकड़ों पर नजर डाले तो जिला अस्पताल कोरोनेशन के अलावा ऋषिकेश, विकास नगर, प्रेमनगर और मसूरी जैसे उपजिला अस्पतालों और 48 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में मानकों के अनुरूप 294 डॉक्टरों की नियुक्ति का प्रावधान है।

फिलहाल इन तमाम सरकारी अस्पतालों में 251 डॉक्टरों की तैनाती है। ऐसे में विभाग में 43 डॉक्टर जिनमें कई विशेषज्ञ शामिल हैं उनके पद खाली हैं। इस बीच जिले के विभिन्न अस्पतालों में तैनात 50 से अधिक डॉक्टरों का पीजी कोर्स के लिए चयन हो गया है। जिस पर इन डॉक्टरों ने नौकरी छोड़ दी है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मनोज कुमार उप्रेती ने बताया कि फिलहाल विभाग के पास जितने डॉक्टर उपलब्ध हैं उनकी मदद से मरीजों का इलाज किया जा रहा है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top