UTTRAKHAND NEWS

IMA उत्तराखंड ने स्वास्थ्य मंत्री के सामने रखी ये बड़ी मांग

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने सरकार से क्लिनिकल एस्टेब्लिशमेंट एक्ट के नियमों में 50 बेड से कम क्षमता वाले निजी अस्पतालों को छूट देने की मांग की है स्वास्थ्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने विभागीय अधिकारियों और आइए में पदाधिकारियों के साथ बैठक की इस दौरान आईएमए ने स्वास्थ्य मंत्री को एक छूट देने के लिए 4 सूत्री मांग पत्र सौंपा

आई एम ए का कहना है कि क्लीनिकल इस्टैब्लिशमेंट एक्ट के नियमों के चलते छोटे निजी अस्पतालों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है 50 बेड क्षमता वाले अस्पतालों को एक्ट के दायरे से बाहर रखा जाए इसके साथ ही प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के तहत एसटीपी अवस्था में छूट अस्थाई पंजीकरण के नवीनीकरण के शुल्क में छूट अग्निशमन अधिनियम को लागू करना निजी अस्पतालों और डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए महामारी एक्ट जारी रखने की मांग की गई है

बैठक में विभागीय मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने पूरे देश में सरकारी व निजी अस्पतालों के लिए वैक्सीनेशन का कोटा निर्धारित किया गया है जिसके तहत राज्यों को मिलने वाले कोविड-19 कोटे से सरकारी अस्पतालों को 75% और निजी अस्पतालों को 25% वैक्सीन आवंटित की जा रही है इसके बावजूद निजी अस्पतालों में वैक्सीनेशन का प्रयोग सरकारी अस्पतालों की अपेक्षा बहुत कम है उन्होंने आईएमए के पदाधिकारियों के माध्यम से सभी निजी अस्पतालों में वैक्सीनेशन बढ़ाने की अपील की है

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-सांसद बलूनी और हरीश रावत के बीच फिर शुरू हुई जुबानी जंग दोनों ने ऐसे किया वार पलटवार

विभागीय मंत्री ने आईएमए पदाधिकारियों को आश्वासन दिया कि मांगों पर शासन स्तर पर सकारात्मक विचार किया जाएगा उन्होंने कहा कि 4 सितंबर को आईएमए की पहल पर राज्य भर के नीचे डॉक्टरों के लिए कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा जिसमें शासन व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ ही विभागीय मंत्री भी उपस्थित रहेंगे

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-बिजली विभाग के जेई की सड़क दुर्घटना में मौत , यहाँ हुआ हादसा
Ad
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top