UTTRAKHAND NEWS

Big breaking :-केदारनाथ मंदिर में दर्शनों की अवधि पांच घंटे बढ़ी, अब श्रद्धालु रात 10:30 बजे तक कर सकेंगे बाबा केदार के दर्शन

Kedarnath dham update :-केदारनाथ मंदिर में दर्शनों की अवधि पांच घंटे बढ़ी, अब श्रद्धालु रात 10:30 बजे तक कर सकेंगे बाबा केदार के दर्शन

केदारनाथ मंदिर में दर्शनों की अवधि पांच घंटे बढ़ाई गई है। पहली पारी में दो घंटे और दूसरी में तीन घंटे मंदिर में दर्शनों की अवधि बढ़ाई गई है। पहले सुबह छह से दोपहर बाद तीन बजे और शाम पांच से रात 8:30 बजे तक दर्शन होते थे।

 

केदारनाथ धाम में उमड़ रहे श्रद्धालुओं के सैलाब को देखते हुए दर्शनों की अवधि पहली पारी में दो और दूसरी में तीन घंटे बढ़ा दी गई है। अब श्रद्धालु देर रात तक बाबा के दर्शनों का पुण्य अर्जित कर सकते हैं। लेकिन, लाइन में लग चुके श्रद्धालुओं की संख्या अधिक होने पर, मंदिर के कपाट तब तक खुले रखे जाएंगे, जब तक कि अंतिम श्रद्धालु दर्शन नहीं कर लेता। फिर भले ही तय अवधि से अधिक समय तक मंदिर के कपाट खोले रखने पड़ें।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-यहाँ सड़क पर उतरकर भुट्टे के मजे लेने लगे सीएम पुष्कर सिंह धामी देखिए वीडियो

 

 

 

इस बार बाबा केदार के दर्शनों को श्रद्धालुओं को सैलाब उमड़ रहा है। लगातार बारिश व कड़ाके की ठंड के बावजूद प्रतिदिन बीस हजार के आसपास श्रद्धालु बाबा के दर्शनों को केदारपुरी पहुंच रहे हैं। इससे दर्शनों के लिए तीन-तीन किमी लंबी लाइन लग जा रही है। श्रद्धालु बेस कैंप स्थित हेलीपैड से सरस्वती पुल होते हुए मंदिर तक लाइन में लगकर घंटों अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। इससे उन्हें खासी दिक्कतें भी झेलनी पड़ रही हैं। उनकी इसी परेशानी को देखते हुए श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति ने दर्शनों की अवधि में पांच घंटे की बढ़ोत्तरी की है।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-धामी सरकार का सबसे बड़ा फैसला,यूनिफॉर्म सिविल कोड पर लिया बड़ा फैसला

 

 

 

नई व्यवस्था के अनुसार श्रद्धालु अब पहली पारी में सुबह चार से दोपहर बाद तीन बजे तक और दूसरी पारी में शाम चार से रात 10:30 बजे तक बाबा के दर्शन कर सकते हैं। दोपहर बाद तीन से चार बजे तक एक घंटे साफ-सफाई, शृंगार व भोग के लिए मंदिर के कपाट बंद रखे जा रहे हैं। जबकि, अब तक दशनों की अवधि पहली पारी में सुबह छह से दोपहर बाद तीन बजे तक और दूसरी पारी में शाम पांच से रात 8:30 बजे तक रखी गई थी। दोपहर बाद तीन से शाम पांच बजे तक दो घंटे मंदिर के कपाट बंद रहते थे।

मंदिर समिति के प्रभारी कार्याधिकारी (केदारनाथ) आरसी तिवारी ने बताया मंगलवार से मंदिर में ब्रह्ममुहूर्त से पूर्व ही विशेष पूजाएं शुरू हो जा रही हैं। सुबह ठीक चार बजे मंदिर श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिया जा रहा है। जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने कहा कि दर्शनों के लिए भारी भीड़ को देखते हुए मंदिर समिति से दर्शनों की अवधि बढ़ाने को कहा गया था। ताकि अधिक से अधिक यात्री दर्शन कर सकें और भीड़ पर भी नियंत्रण बना रहे।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-दादरी जमीन मामले में इन्हें मिली बड़ी राहत, जानिए कोर्ट ने क्या दिए आदेश

 

मंदिर में दर्शनों के लिए उमड़ रही भीड़ को देखते हुए श्रद्धालुओं को सभामंडप से ही गर्भगृह में विराजमान स्वयंभू शिवलिंग के दर्शन कराए जा रहे हैं। मंदिर समिति की ओर से श्रद्धालुओं को गर्भगृह में बाबा के दर्शनों की अनुमति नहीं दी जा रही। सिर्फ विशेष पूजाएं ही गर्भगृह में संपन्न हो रही हैं।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top