उत्तराखंड

Big news :-कांग्रेस ने उठाए सवाल तो अब जाग गया स्वास्थ्य महकमा ,कांग्रेस प्रवक्ता बोली बहुत देर कर दी मेहरबां आते-आते

उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस की गढ़वाल मीडिया प्रभारी  गरिमा मेहरा दसौनी ने लगातार दूसरे दिन भी गुरुवार को चन्दर नगर केंद्रीय औषधीय भंडार गृह में औचक निरीक्षण किया।

ज्ञात हो कि बुधवार को भंडार ग्रह से दसोनी ने सरकार की बड़ी कारगुजारी का खुलासा किया था ।जिसमें करोड़ों की लागत के स्वास्थ्य संबंधित उपकरण खुले आसमान के नीचे सड़ने और गलने के लिए सरकार के द्वारा छोड़ दिए गए थे। भंडार ग्रह के प्रबंधक श्री गौतम से बातचीत के दौरान पता चला कि सरकार ट्रक या गोदाम का इंतजाम नहीं कर रही है इसीलिए दवाइयां इंजेक्शन ऑक्सीजन सिलेंडर और करोड़ों की लागत के फ्रिज भरी बरसात में खुले आसमान के नीचे छोड़ दिये गए हैं।

दसोनी ने अवगत कराया कि गुरुवार की सुबह जब वह भंडार ग्रह पहुंची तो पाया कि शासन प्रशासन हरकत में आ चुका था ।
देर से ही सही लेकिन सरकार अपनी कुंभकरण की नींद से जाग चुकी थी। दसोनी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने यह निश्चय कर लिया है कि प्रदेश की जनता जोकि इन स्वास्थ्य उपकरणों की असली हकदार है उन जरूरतमंदों तक यह सामान सुरक्षित पहुंचे इस बात के लिए वह सरकार पर दबाव बनाने का काम करेगी।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-प्रदेश में 93 फीसद से अधिक नागरिकों कोकोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगी

दसोनी ने कहा कि इसे दुर्भाग्यपूर्ण ही कहा जा सकता है की दूसरी लहर में जहां एक ओर तबाही का मंजर था श्मशान में शवों को जलाने तक की व्यवस्था नहीं हो पा रही थी उत्तराखंड राज्य ने 8000 से ज्यादा लोगों को खो दिया उसके बावजूद भी सरकार का दिल नहीं पसीजा। दसोनी ने कहा कि इस तरह की घोर लापरवाही बताती है कि सरकार की प्राथमिकता लोगों की स्वास्थ्य और जान माल है ही नहीं।

दसोनी ने कहा कि पहली लहर और दूसरी लहर के बीच में भी सरकार को काफी समय मिला था कि वह अपनी तैयारियां कर सकते थे लेकिन प्रदेश की मौतें सरकार की अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ गई ।दसोनी ने कहा कि विपक्ष के खुलासे के बाद और मीडिया बंधुओं के इस मुद्दे को पुरजोर रूप से उठाने के बाद ही शासन तंत्र हरकत में आया और अपनी छीछालेदर से बचने के लिए सरकार द्वारा रातो रात ट्रकों का और सामान लोड करने के लिए मजदूरों का इंतजाम कर दिया गया ।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:- रुद्रप्रयाग के सोनप्रयाग- त्रिजुगीनारायण में हुआ बड़ा हादसा- SDRF ने रेस्क्यू कर 10 लोगों को निकाला सुरक्षित

दसोनी ने राज्य सरकार से अपनी कार्यप्रणाली में बदलाव लाने को कहा।
दसोनी ने कहा की उत्तराखंड वासियों के दिलों में गहरे छाले और दर्द है किसी न किसी रूप में उत्तराखंड के हर परिवार ने कोई ना कोई अपना खोया है ऐसे में जब जनता को आईसीयू के लिए ऑक्सीजन के लिए और वेंटिलेटर दवाई इंजेक्शन इत्यादि के लिए दर-दर की ठोकरें खानी पड़ी तो आज जो मंजर भंडार ग्रह का है जिसमें हजारों की तादाद में सामान सड़ रहा है तो उन लोगों के दिलों में सांप लौट रहे हैं।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-प्राइमरी स्कूल तो खोल रहे हो लेकिन उससे पहले , देहरादून के इस स्कूल से आई ये खबर

आज उत्तराखंड की जनता अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रही है प्रदेश सरकार ने अपनी घोर लापरवाही के चलते उत्तराखंड वासियों की पीठ में छुरा भोंकने का काम किया है। दसौनी ने कहा कि साढे 4 साल तक प्रदेश की जनता स्वास्थ्य मंत्री के लिए तरसती रही और अब चुनावी बेला में राज्य को स्वास्थ्य मंत्री मिले हैं तो उनको अपने स्वागत और नारे लगवाने से फुर्सत नहीं है। दसोनी ने कहा कि लगता है स्वास्थ्य मंत्री को जनता के स्वाद से कोई सरोकार नहीं। दसोनी ने कहा कि राज्य सरकार अगर अपनी हरकतों से बाज नहीं आई तो विपक्ष इसी तरह से और कई मुद्दों पर सरकार को बेनकाब करने का काम करता रहेगा।

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top