DEHRADUN NEWS

Big breaking :-विकासनगर में किसके इशारे पर चीरा जा रहा यमुना का सीना, सीएम धामी चलाओ बुलडोजर

“विकासनगर में किसके इसारे पर चीरा जा रहा यमुना का सीना, अवैध खनन के खेल में जिम्मेदार कब तक रहेंगे मौन, आखिर cm धामी की साख पर कौन लगा रहा बट्टा”

 

 

इन दिनों धामी सरकार अवैध खनन को लेकर सख्ताई दिखा रही है अधिकारियों को सख्त दिशा निर्देश कार्यवाई को लेकर दिये गये हैं बहुत सी जगह पर अवैध खनन पर अंकुश लगते देखा भी गया है। लेकिन cm धामी के अवैध खनन पर तमाम दावों के बावजूद विकासनगर क्षेत्र में अवैध खनन का काला कारोबार रत्ती भर भी थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहाँ यमुना नदी में आंवटित गढ़वाल मण्डल विकास निगम के पट्टे की आड़ में ढालीपुर ढकरानी से लेकर डाकपत्थर बैराज तक बेतरतीब ढंग से मानकों को ठेंगा दिखाकर रात दिन खुलेआम यमुना नदी का सीना चीर कर अवैध खनन को अंजाम दिया जा रहा है।

 

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-प्रवक्ताओ की नियुक्ति को लेकर मंत्री धन सिंह रावत ने कही बड़ी बात

हर वक़्त खनिज से लदे ओवरलोड वाहनों की विशाल श्रंखला को बेखोफ नदी से बाहर निकलते देखा जा रहा है। अवैध खनन के इस खेल में प्रतिदिन लाखों के वारे न्यारे माफियाओं द्वारा किये जा रहे हैं जिससे लाखों रूपये के राजस्व की हानी राज्य सरकार को पहुँचाई जा रही है। इतना ही नहीं यमुना नदी से निकलने वाले खनिज से लदे ये भारी भरकम ओवरलोड वाहन UJVNL की शक्ति नहर के कमजोर पुलों से आना जाना कर रहे हैं जबकि इन पुलों से भारी वाहनों को निकाला जाना पूरी तरह से प्रतिबंधित है जगह जगह चेतावनी बोर्ड भी लगाये गये हैं खास तौर पर डाकपत्थर बैराज पर डैम के मुहाने पर बने जल विधुत परियोजना के अतिसंवेदनशील पुल से सबसे ज्यादा अवैध खनन के भारी भरकम वाहन निकाले जा रहे हैं जबकि विशेषज्ञ परियोजना के सबसे मुख्य इस पुल से भारी वाहनों की आवाजाही को इस पुल के लिये बड़ा खतरा बता चुके हैं तमाम तरह की विभागीय रिपोर्ट शाषन में प्रेषित भी हैं बावजूद इसके पुल नंबर एक के पास लगे स्क्रीनिंग प्लांट से जो पहले से ही सवालों के घेरे में है और यमुना से चोरी से निकाले जा रहे खनिज के सैकड़ों ओवरलोड वाहन इस कमजोर पुल से निकाले जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-तो क्या अब बीजेपी के कर्नल बनेगे कोठियाल

 

 

 

ये हाल तब है जब यहाँ विभाग के गार्ड तैनात हैं और पास में ही दो पुलिस कर्मचारी भी पहरेदारी पर अक्सर बैठे रहते हैं लेकिन मजाल है किसी भी संबंधित सरकारी कर्मचारी या अधिकारी की जो एक वाहन को रोककर उसके कागज चैक करले या पूछताछ करने की जहमत उठा ले। ऐसे में पुलिस, खनिज विभाग, वन विभाग सहित तहसील प्रशासन की कार्यशैली पर गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं। अब सवाल यह की मुख्य मंत्री पुष्कर सिंह धामी की साफ सुथरी इस सरकार में किसके इशारे पर इतने बड़े स्तर पर अवैध खनन के इस काले कारोबार को अंजाम दिया जा रहा है किसके‌ संरक्षण में अवैध खनन का धंधा विकासनगर में परवान चढ़ रहा है।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-PWD के नए HOD की नियुक्ति, आदेश हुए जारी

 

 

 

 

जानकारो की माने तो देहरादून के सबसे नजदीक खनिज के सबसे अच्छे माध्यम के लिये पछवादून का ये इलाका सबसे ज्यादा मुफीद माना जाता है जिसके चलते विकासनगर के ही प्रतिष्ठित लोग नहीं बल्कि अब देहरादून के प्रतिष्ठित लोगों की भूमिका भी इस क्षेत्र में खास हो गयी है जो इस क्षेत्र में खनन के कारोबार में शामिल हो गये हैं वैसे बिना सत्ता के संरक्षण के ये सब बिल्कुल भी संभव नहीं वहीं अगर सूत्रों की मानें तो 24 घंटे में यहाँ एक करोड़ रुपये से भी ज्यादा रकम का प्रत्येक दिन अवैध रूप से खनन का कारोबार किया जा रहा है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top