UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-आखिर क्यों मंत्री हरक सिंह पर फायर हो रहे विधायक दिलीप रावत , जानिए क्या और क्यों है नाराजगी

लैंसडौन विधानसभा क्षेत्र के विधायक दिलीप रावत ने प्रदेश के ऊर्जा, सेवायोजन, वन एवं पर्यावरण मंत्री डा. हरक सिंह रावत के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने काबीना मंत्री पर राजनीतिक विद्वेष से उनकी विधानसभा क्षेत्र की उपेक्षा करने का आरोप लगाया है। उन्होंने मुख्यमंत्री से तीन दिन के भीतर कालागढ़ फारेस्ट टाइगर रिजर्व प्रभाग कार्यालय में प्रभागीय वनाधिकारी तैनात करने व नैनीडांडा विद्युत वितरण खंड में अधिशासी अभियंता की नियुक्ति करने की मांग की है। ऐसा न होने की स्थिति में उन्होंने विधानसभा के बाहर आमरण अनशन करने की चेतावनी दी है।

 

 

 

 

मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में दिलीप रावत ने कहा कि 12 दिसंबर को मुख्यमंत्री ने नैनीडांडा डिग्री कालेज में आयोजित कार्यक्रम में विद्युत वितरण खंड कार्यालय का लोकार्पण किया। बीस दिन बाद भी आज तक कार्यालय में अधिशासी अभियंता की तैनाती नहीं की गई है। आरोप लगाया कि ऊर्जा मंत्री के दबाव के कारण यह नियुक्ति नहीं हो पा रही। पत्र में वन मंत्री पर आरोप लगाया कि उन्होंने कालागढ़ वन प्रभाग के कार्यालय को कोटद्वार शिफ्ट करने का प्रयास किया, जिसका उन्होंने जनसहयोग से विरोध किया। लेकिन, अब वन मंत्री ने कोटद्वार में कालागढ़ वन प्रभाग का कैंप कार्यालय खुलवा दिया व लैंसडौन स्थित कार्यालय को निष्क्रिय कर दिया।पत्र में कहा गया कि लैंसडौन स्थित सेवायोजन कार्यालय को भी शिफ्ट करने का प्रयास किया गया।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-बीजेपी ने रविन्द्र जुगरान को दी बड़ी जिम्मेदारी , बनाया प्रदेश प्रवक्ता

 

 

 

उनके प्रतिरोध के बाद इस कार्यालय का संचालन जयहरीखाल में शिशु मंदिर के बंद पड़े भवन में हो रहा है। पत्र में विधायक दलीप रावत ने कहा कि तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से वार्ता कर उन्होंने मैदावन-दुर्गा देवी वन मार्ग को खुलवाया। लेकिन, राजनीतिक दवाब के कारण इसे खोलने में विलंब किया गया व अब वन मंत्री इस मार्ग को स्वयं की उपलब्धि बता श्रेय लेने की राजनीति कर रहे हैं। पत्र में स्पष्ट कहा गया कि काबीना मंत्री लैंसडौन क्षेत्र की उपेक्षा कर रहे हैं, जिसे वे बर्दाश्त नहीं करेंगे। चेतावनी देते हुए कहा कि यदि तीन दिन के भीतर लैंसडौन में कालागढ़ फारेस्ट टाइगर रिजर्व प्रभाग कार्यालय में प्रभागीय वनाधिकारी व नैनीडांडा विद्युत वितरण खंड में अधिशासी अभियंता की तैनाती न की गई तो वे विधानसभा के बाहर आमरण अनशन करेंगे।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-कही नहीं जाएंगे रामनगर से लड़ेंगे हरदा , 27 को पहुचेंगे रामनगर , 28 को करेंगे नामांकन खुद की घोषणा

 

 

 

आपको बता दें हरक सिंह रावत और विधायक दिलीप रावत के बीच ऐसे ही नहीं ठनी है हरक सिंह रावत जहां अपनी पुत्रवधू के लिए लैंसडाउन से टिकट मांग रहे हैं जो दिलीप रावत को नागवार गुजर रहा है हरक सिंह रावत की पुत्र वधू अनुकृति गुसाईं पिछले काफी समय से लैंसडौन क्षेत्र में सक्रिय है और जब से उनकी सक्रियता है तब से ही दिलीप रावत खासे परेशान भी हैं ऐसे में तमाम मुद्दे उठाते हुए नजर आ रहे हैं हालांकि अब इस खींचतान में किसे लैंसडाउन में फिर मौका मिलता है यह तो वक्त ही बताएगा लेकिन कुल मिलाकर दोनों नेताओं के बीच चल रही एक जुबानी लड़ाई से बीजेपी पशोपेश की स्थिति में जरूर आ गई है

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-सूत्रों के हवाले से बड़ी खबर , कांग्रेस 4 सीटो पर बदल सकती है प्रत्याशी , क्या हरदा की सीट को लेकर भी होगा फैसला

 

 

 

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top