बात कड़वी लेकिन सच

Big breaking:-कांग्रेस में ये अंडरस्टूड है कौन है चेहरा , फिर भी रायता फैलाने से खुद का ही होगा नुकशान

उत्तराखंड में भले ही चेहरे को लेकर कांग्रेस में हो हंगामा मचा हो लेकिन यह बात अंडरस्टूड है उत्तराखंड में जनता में कौन प्रचलित नेता है किसको जनता और कार्यकर्ता मानते हैं

और यहां तो पार्टी आलाकमान ने भी मान लिया है कि हरीश रावत अभी प्रदेश में सबसे पॉपुलर नेता है इसलिए ही तो उन्हें चुनाव संचालन समिति की जिम्मेदारी सौंपी गई है लेकिन सबसे ज्यादा चेहरे की बात हरीश रावत खेमे से ही आ रही है ऐसे में हरीश रावत खेमे के नेता क्यों नहीं समझते की पार्टी के संकेत क्या है अगर इतने पर भी वह नहीं समझ रहे हैं और रायता खुद ही फैलाने में जुटे हुए हैं तो फिर आगे कोई कुछ कर नहीं सकता

पार्टी आलाकमान ने  5 अध्यक्षों को आगे कर सब को साधने की कोशिश चुनावी चेहरे के सवाल पर अब उलझती हुई नजर आ रही है चेहरे को लेकर पिछले लंबे समय से चल रही तकरार प्रदेश कांग्रेस में बड़े बदलाव के बाद भी नहीं थमी है हालात ऐसे ही रहने की स्थिति में पार्टी आलाकमान को बीच बचाओ की नौबत आ सकती है

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-धामी सरकार के मंत्रियो , विधायको पर दिख रहा चुनावों का प्रेशर , आये दिन अधिकारियों को हड़काते वीडियो हो रहे वायरल

साफ है विधानसभा चुनाव से ठीक पहले प्रदेश में कांग्रेस के भीतर चेहरे की लड़ाई और तेज हो गई है पार्टी हाईकमान नए बदलाव के साथ ही संकेत दे चुका है चुनाव प्रचार की कमान पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय महासचिव को सौंपकर पार्टी ने जता दिया है कि उन्हें राज्य में अपने इसी बड़े चेहरे पर भरोसा है साथ ही पार्टी ने सामूहिक नेतृत्व को लेकर अपना पुराना राग भी बरकरार रखा है

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-Lockdown में जमकर बढ़े साइबर अपराध , साइबर अपराध के मामले में उत्तराखंड पूरे देश में 19वें नंबर पर

प्रदेश संगठन में हुए बड़े बदलाव के समीकरण बैठ आते वक्त पार्टी नेतृत्व ने गुट विशेष की जगह सभी को साथ लेकर चलने पर जोर दिया प्रदेश के भीतर उठने वाले शोर से लेकर राष्ट्रीय स्तर पर अंजाम दी गई कसरत के बावजूद पार्टी की उलझन लगातार बढ़ ही रही है चुनावी चेहरे के सवाल पर पार्टी अभी खेमे में बटी हुई है

चुनाव प्रचार समिति की कमान हरीश रावत को सौंपने और हरीश रावत की पसंद को प्रदेश अध्यक्ष पद पर तरजीह मिलने के बाद रावत खेमा खासा उत्साह में है रावत समर्थकों का साफ तौर पर मानना है कि पार्टी ने अगले विधानसभा चुनाव की बागडोर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के सुपुर्द कर दी है नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल कह चुके हैं कि हरीश रावत प्रदेश में सबसे लोकप्रिय चेहरा है

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-पंजाब में कांग्रेस का सीएम परिवर्तन , उत्तराखंड बीजेपी ने ली चुटकी उत्तराखंड की परिवर्तन यात्रा का असर है पंजाब का परिवर्तन

वही प्रदेश अध्यक्ष पद से हटने के बाद नेता प्रतिपक्ष की भूमिका में आए प्रीतम सिंह दोहरा रहे हैं कि पार्टी अगला चुनाव किसी चेहरे के बजाय सामूहिक नेतृत्व में लड़ेगी साफ है किसी ने ठीक ही कहा है कि अभी घर ढंग से बना नहीं लड़ाई झगड़े पहले ही शुरू हो गए ऐसे ही हालात कांग्रेस के भी नजर आते हैं और अगर ऐसा ही रहा तो अनुशासित पार्टी बीजेपी का कैसे कांग्रेस की एक तमाम नेता मुकाबला कर पाएंगे

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top