UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-बीजेपी का वीडियो वार लगता है लगा सटीक निशाने पर , हरदा और गणेश गोदियाल दोनों को सफाई देनी पड़ी , गोदियाल बोले मैं पूजा करने नही गया था

 

कांग्रेस जिस तरीके से प्रधानमंत्री मोदी के केदारनाथ गर्भगृह से लाइव तस्वीरों का सवाल खड़े कर रही थी उसके बाद बीजेपी ने जो वीडियो जारी किया है उसने लगता है सही जगह वार किया है जी हां हरीश रावत के बाद गणेश गोदियाल ने भी उस वीडियो पर सफाई दी है आइए पहले वीडियो देखते हैं और फिर जानते हैं दोनों नेताओं ने क्या कहा

 

 

 

जी हां पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि ” हम आह भी भरते हैं, तो हो जाते हैं बदनाम।
भाजपा कत्ल भी कर दे, कहते हैं चर्चा न हो।।
श्री Ganesh Godiyal जी उस समय जूते पहन कर मंदिर में गये, जब मंदिर का गर्भगृह लाशों से अटा पड़ा था, उनको बाहर निकालना सबसे पहली दैवीय प्राथमिकता थी। रही बात कमलनाथ जी की, क्या भाजपा यह कहना चाहती है कि श्री #Modi जी ने कमलनाथ जी का अनुसरण किया है? श्री #KamalNath जी उस समय मंदिर गये थे, जब देश और दुनिया में मंदिर भवन और केदारेश्वर के क्षतिग्रस्त होने की अफवाह फैली हुई थी। #भाजपा के दोस्तो, जब हम पुनर्निर्माण के काम में लगे हुये थे, तो आपकी पार्टी सार्वजनिक बयान दे रही थी कि उत्तराखंड जो आ रहे हैं, वो सर पर कफन बांध करके आएं। जरा अपने पापों को याद करिए, तब दूसरों पर उंगली उठाइये।

वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाबा केदारनाथ के दर्शन किए और इस दौरान उन्हें पूजा-अर्चना भी की जिसके बाद कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लाइव प्रसारण पर आपत्ति दर्ज की और बताया कि कभी भी गर्भगृह से किसी ने लाइव प्रसारण नहीं किया है वहीं अब भाजपा ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल का एक वीडियो वायरल कर दिया है जिसमें गणेश गोदियाल एक टीवी चैनल के साथ गर्भगृह की पूरी स्थिति बता रहे हैं यह मामला 2013 की आपदा के बाद का बताया जा रहा है

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-जनभावनाओं के अनुरूप मुख्यमंत्री का निर्णय स्वागत योग्यः महाराज

 

वहीं गणेश गोदियाल ने कहा कि मेरे संज्ञान में इस तरह का कोई वीडियो नहीं है लेकिन उस समय कि जिस तरह की स्थिति थी तो सिर्फ हमें यह समझ में आ रहा था कि किसी तरह से यहां पर स्थिति को संभाला जाए।गणेश गोदियाल ने कहा कि, जिस वीडियो के बाद भाजपा कर रही है वह 2013 की आपदा के बाद की है और उस वक्त में वहां पर पूजा करने नहीं बल्कि आपदा राहत में गया था, उन्होंने उस वक्त की अपनी कुछ तस्वीरें दिखाते हुए कहा कि जहां पर मानव मृत शरीर पड़े हो वहां पर पूजा की नियत से नहीं जाया जाता.

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-देर रात में सरकार ने बदल डाले 35 IAS और PCS के तबादले , इन्हें बनाया उधमसिंहनगर का DM

 

 

उन्होंने कहा कि उस वक्त उस रिपोर्टर ने मुझे फसाने की कोशिश की उसने इस तरह से पुकारा जैसे वहां पर कोई जिंदा है और मैं भागते हुए उसके पास चला गया। उस वक्त मेरे दिमाग में ऐसी कोई बात थी ही नहीं कि मैं पूजा के लिए जा रहा हूं। उस वक्त ऐसी चीजें मंदिर के अंदर पड़ी थी जिनका मैं जिक्र नहीं कर सकता और उनको मैंने वहां से हटाया और आज भारतीय जनता पार्टी का उस बात को अभी की स्थिति से तुलना करना इन दोनों बातों में कोई तुलना नहीं है.

Ad
Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top