UTTRAKHAND NEWS

Big breaking :-सूत्रों के हवाले से बड़ी खबर, धामी के लिए विधायकी कुर्बान का बयान देने वाले दो विधायकों को पार्टी संगठन से लग गई फटकार , पूछा पार्टी ने कहा हैं क्या ऐसा करने के लिए तो बेवजह बयानबाजी क्यों ?

प्रदेश में भाजपा सत्ता में आ गई है लगभग 47 से ज्यादा विधायक बीजेपी के आ भी गए हैं लेकिन इन सबके  बीच  उत्तराखंड बीजेपी में सीएम पद को लेकर रार शुरू हो गई हैं प्रदेश में जहाँ सीएम पद के कई दावेदार हैं तो चुनावी समर में 7 हज़ार वोटो से हारने वाले सीएम पुष्कर सिंह धामी के नामों की बड़ी जोर से चर्चा चल रही हैं.

 

 

 

कहा जा रहा हैं कि पार्टी आलाकमान चाहता हैं की धामी को ही सीएम बनाया जाए लेकिन ये तमाम बातें धामी के करीबी  ही बता रहे  हैं अभी  तक  पार्टी अलाकमान या संगठन  की तरफ से किसी ने इस मामले में एक  शब्द  तक नहीं बोला हैं चुनाव  जीतने के बाद  हुई बीजेपी कार्यालय में पत्रकार वार्ता में भी  ऐसी कोई बात  नहीं कही  गई  ना ही कोई संकेत दिए गए  ऐसे में बड़ा सवाल ये हैं कि क्यों ये तमाम बातें धामी के करीबियों द्वारा ही बताई जा रही  हैं जबकि  जो भी  फ़ाइनल फैसला लेना हैं वो पीएम मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा द्वारा ही लिया जाना हैं क्या वो नहीं जानते मोदी और शाह सबकुछ सोच समझकर और चौकाने वाले ही फैसले लेते हैं .

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-हिप्पोक्रेटिक ओथ की जगह ‘महर्षि चरक शपथ’ लेंगे मेडिकल छात्र, मेडिकल शिक्षण संस्थानों में स्थापित होगी चरक, सुश्रुत एवं धन्वंतरि की मूर्तियां

 

वही  इन दिनों धामी  के लिए  कुर्सी छोड़ने  की पेशकश करने वाले विधायकों की कमी नहीं हैं अभी  तक 7 विधायक अपनी विधायकी  धामी  के लिए  कुर्बान करने का बयान  दे चुके  हैं इनमे विधायक कैलाश गहतोड़ी, प्रदीप बत्रा, मोहन सिंह मेहरा, सुरेश गड़िया, राम सिंह कैड़ा जैसे विधायक शामिल वही सूत्रों की माने तो पार्टी संगठन ने दो विधायकों  को इस तरह की बयानबाजी  पर  जमकर  फटकार  लगाई  हैं सूत्र बताते हैं कि पार्टी ने इन विधायकों  से पूछा  हैं कि क्या पार्टी ने उन्हें ऐसा  करने  को कहा हैं ज़ब नहीं कहा तो पार्टी का अनुशासन क्यों तोड़ा जा रहा हैं .

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-एक महीना पहले ही हुई थी शादी, पति पत्नी दोनों गिर गए थे खाई मे फिर हुआ चमत्कार

 

 

बड़ा सवाल  ये हैं कि अगर सच में इनमे से किसी भी विधायक से इस्तीफा देने के लिए  कहा जाए  तो शायद  ही कोई तैयार हो लेकिन अब जिस तरह से बयान बाजी की जा रही हैं ऐसा लगता है कि किसी तरीके का दबाव बनाने की कोशिश की जा रही है .

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :- संभलकर निकले बाहर 24 मई तक मौसम विभाग ने किया हैं ये अलर्ट जारी

 

 

 

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top