UTTRAKHAND NEWS

Big breaking :-मंत्री की अनुमति के बिना हो गए ट्रांसफर आदेश, गुस्सा मंत्री ने कर दिए निरस्त

 

प्रदेश में एक बार फिर खाद्य पूर्ति विभाग चर्चा का विषय बन गया है। जहां खाद्य आयुक्त द्वारा 6 जिला पूर्ति अधिकारियों के तबादले का आदेश जारी किया गया था,


जिसके बाद कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या द्वारा उक्त आदेश को तत्काल प्रभाव से रोकने का पत्र जारी कर दिया। जारी पत्र में मंत्री रेखा आर्या ने लिखा है कि जिला पूर्ति अधिकारियों के स्थानांतरण व तैनाती विषयक आदेश बिना अधोहस्ताक्षरी से अनुमोदन कर जारी किया गया है, जिसे तत्काल प्रभाव से निरस्त किया जाता है।

वहीं पूरे मामले में विभाग की तो किरकिरी हो ही रही है। साथ ही अपर आयुक्त की भूमिका पर भी सवाल उठ खड़े हो गए हैं।

मंत्री श्रीमती रेखा आर्या ने मुख्य सचिव को पत्र लिखकर जताई नाराजगी,कहा खाद्य आयुक्त सचिन क़ुर्बे पर की जाए सख्त कार्यवाही*

*खाद्य आयुक्त सचिन कुर्वे ने जिला पूर्ति अधिकारी मनोज बर्मन सहित किये 5 जिलापूर्ति अधिकारीयों के स्थानातरण तो खाद्य मंत्री श्रीमती रेखा आर्या ने बताया ‘रूल ऑफ बिज़नेस का उल्लंघन’ और निरस्त किया स्थानांतरण आदेश*

*खाद्य आयुक्त द्वारा शासन एवं मंत्रालय के अनुमोदन के बिना ट्रांसफर आदेश जारी करना ट्रांसफर एक्ट का भी उल्लंघन:- रेखा आर्या*

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-नहीं थम रहा प्रीतम - हरीश के बीच बयानों का वार, अब प्रीतम ने 2016 की बगावत के लिए बताया जिम्मेदार

*ऐसा क्या निजी स्वार्थ रहा कि कमेटी की बैठक कराने से लेकर आदेश निर्गत कर जिलाधिकारीयों तक भेजनें मे लगा मात्र डेढ़ घंटे का समय:-रेखा आर्या*

*माननीया मंत्री रेखा आर्या द्वारा माननीय मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी जी को भी कराया गया पूरे मामले से अवगत*

 

खाद्य ,नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले की मंत्री श्रीमती रेखा आर्या ने खाद्य आयुक्त सचिन क़ुर्बे द्वारा नैनीताल जिले के जिला पूर्ति अधिकारी श्री मनोज बर्मन को अनिवार्य रूप से अवकाश पर भेजे जाने को लेकर कड़ी नाराजगी जताई है जिसे लेकर  मंत्री  ने खाद्य आयुक्त को पत्र लिखकर कहा कि उक्त विषय को मेरे संज्ञान में लाये बिना आयुक्त खाद्य द्वारा की गई कार्यवाही को तत्काल निरस्त किया जाता है । यह कारवाही बेहद ही खेदजनक और रूल्स ऑफ बिजनेस का घोर उल्लंघन है।

मंत्री  ने कहा कि विभागीय मंत्री के अनुमोदन के बिना इस तरह की कार्यवाही का किया जाना मनमानी एवं एकाधिकार प्रतीत है। माननीया मंत्री महोदया जी ने कहा कि खाद्य आयुक्त की इस कार्यवाही को बिल्कुल भी उचित नही ठहराया जा सकता है ।

वहीं दूसरी और खाद्य आयुक्त को माननीया मंत्री महोदया द्वारा दिये गए निर्देशों के बाबजूद भी आयुक्त खाद्य सचिन कुर्वे ने उक्त कारवाही पर कोई अमल नही किया बल्कि उनके जरिये राज्य के 6 जिलों के जिला पूर्ति अधिकारियों के स्थानांतरण के आदेश जारी कर दिए गए ।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-अविश्वास प्रस्ताव से पहले रुद्रप्रयाग जिला पंचायत अध्यक्ष अमरदेई शाह ने दिया इस्तीफा, जानिए क्यों दिया इस्तीफा

खाद्य आयुक्त सचिन क़ुर्बे के द्वारा की गई इस प्रकार की कार्यवाही पर माननीया मंत्री श्रीमती रेखा आर्या ने कड़ी नाराजगी वक्त करते हुए खाद्य आयुक्त को पत्र जारी कर जवाब देने को कहा है ।

माननीया खाद्य मंत्री महोदया जी ने सचिन क़ुर्बे को लिखे अपने पत्र में कहा कि आपके द्वारा जिलापूर्ति अधिकारियों के स्थानांतरण और तैनाती के आदेश शासन व विभागीय मंत्री के अनुमोदन के बिना जारी किए गए हैं अतः इन स्थानातरण को तत्काल प्रभाव से निरस्त किया जाता है ।
बताते चलें कि खाद्य आयुक्त सचिन क़ुर्बे द्वारा बीते 20 जून को खाद्य मंत्री श्रीमती रेखा आर्या को बिना बताए नैनीताल जिले के जिला पूर्ति अधिकारी मनोज बर्मन को अनिवार्य रुप से अवकाश पर भेजे जाने का आदेश जारी कर दिया गया था जिसपर माननीया मंत्री महोदया ने कड़ी नाराजगी वक्त करते हुए खाद्य आयुक्त द्वारा की गई इस तरह की कार्यवाही को बेहद ही खेदजनक बताया ,साथ ही खाद्य आयुक्त को स्पस्टीकरण प्रस्तुत करने के लिए कहा गया किंतु खाद्य आयुक्त सचिन क़ुर्बे ने स्पस्टीकरण ना देते हुए 6 जिलों के जिला पूर्ति अधिकारियों के स्थानांतरण कर दिए ।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-श्रीनगर गढ़वाल में बीच सड़क में चल गए लात घुसे जानिए क्या हैं मामला

माननीया खाद्य मंत्री श्रीमती रेखा आर्या ने उक्त विषय को बेहद गंभीरता के साथ लेते हुए मुख्य सचिव को पत्र जारी किया । अपने पत्र में मंत्री महोदया ने कहा कि उनके द्वारा खाद्य आयुक्त को पत्र जारी कर नैनीताल जिले के जिला पूर्ति अधिकारी को उनके दायित्व दिए जाने की बात कही गई थी लेकिन खाद्य आयुक्त सचिन क़ुर्बे ने उनके आदेशो का अनुपालन अभी तक नही किया है जो कि विभागीय मंत्री के अधिकार क्षेत्र के अतिक्रमण होने के साथ रूल ऑफ बिजनेस का भी उल्लंघन है । बल्कि इससे इतर खाद्य आयुक्त द्वारा अन्य 06 जिलापूर्ति अधिकारीयों के स्थानंनातरण आदेश जारी करना उनकी कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिन्ह है! अतः माननीया मंत्री महोदया ने मुख्य सचिव को लिखे पत्र में कहा कि खाद्य आयुक्त सचिन क़ुर्बे द्वारा किये गए इस तरह की कृत्य का तत्काल संज्ञान लेने के साथ सख्त कार्यवाही की जाए।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top