UTTRAKHAND NEWS

Big breaking :-इन IAS अधिकारियो क़ो लेकर आया बड़ा Update, यें आईएएस हुए रिलीव, PCS से IAS बनने वाले 17 अधिकारियो का आदेश भी एक दो दिनों में

Ad

भारतीय प्रशासनिक सेवा की अधिकारी सौजन्या शासन से रिलीव हो गई हैं। वह लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी (एलबीएसए) में संयुक्त निदेशक की जिम्मेदारी संभालेंगी। सौजन्या के साथ दो और आईएएस अधिकारी अध्ययन अवकाश पर विदेश जाने की तैयारी कर चुके हैं।

उत्तराखंड सचिवालय में तैनात तीन आईएएस अधिकारी कम होने जा रहे हैं। इनमें एक आईएएस अधिकारी सौजन्या रिलीव हो गईं। सौजन्या सचिव निर्वाचन, वित्त और सूचना प्रौद्योगिकी के अलावा मुख्य निर्वाचन अधिकारी की जिम्मेदारी देख रही थीं। अब सचिव शैलेश बगौली अपने अन्य विभागों के साथ सूचना प्रौद्योगिकी का प्रभार भी देखेंगे। सचिव वित्त व नागरिक उड्डयन के साथ निर्वाचन का प्रभार आईएएस अफसर दिलीप जावलकर को दिया गया है।

सचिव राधिका झा और अपर सचिव डॉ. आशीष श्रीवास्तव भी अध्ययन अवकाश पर विदेश जाने की तैयारी में हैं। दोनों अधिकारियों ने कार्मिक एवं सतर्कता विभाग को अध्ययन अवकाश के लिए आवेदन कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक, सचिव स्वास्थ्य का दायित्व देख रही आईएएस राधिका झा अगले महीने स्टडी लीव पर चली जाएंगी।

आईएएस अधिकारी सविन बंसल विदेश में अध्ययन अवकाश से लौट आए हैं। कार्मिक विभाग आने वाले कुछेक दिन में उनकी तैनाती कर देगा। तीन आईएएस की कमी सरकार पीसीएस से पदोन्नत हुए 17 आईएएस अधिकारियों से करेगी। इस हफ्ते आईएएस कैडर में 17 नए आईएएस अफसरों के शामिल होने की पूरी संभावना है आदेश भी जारी हो जायेंगे ।

उत्तराखंड के आईएएस कैडर में कुल 126 पद हैं, जिनमें से 82 आईएएस शासन और केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर तैनात हैं। 17 आईएएस अधिकारी मिल जाने के बाद इनका संख्या बढ़ जाएगी। इनमें से कुछ अधिकारी पहले से ही अपर सचिव स्तर पर तैनात हैं।

Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top