UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-उत्तराखंड में शासन की तलवार 10 संस्कृत महाविद्यालयों पर चली , खत्म हुई मान्यता

देहरादून: उत्तराखंड में शासन की तलवार 10 संस्कृत महाााविद्यालय पर चल गई है। विश्विद्यालय की मान्यता से संबंधित भूमि-भवन आदि के कागज उपलब्ध न कराने पर 10 महाविद्यालयों की मान्यता खत्म कर दी है। हालांकि अभी इनमें शास्त्री व आचार्य प्रथम वर्ष को छोड़कर अन्य कक्षाओं की पढ़ाई नियमानुसार जारी रहेगी।

 

इसके अलावा कमेटी ने पांच अन्य संस्कृत महाविद्यालयों को सत्र 2021-22 की मान्यता देते हुए एक और मौका दिया है। अगर इन्होंने एक वर्ष में मान्यता से संबंधी अभिलेख उपलब्ध न कराए तो विवि कड़ा फैसला ले सकता है। इस संबंध में शासन को भी जानकारी दे दी गई है।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-यहाँ सेनेटरी सब इंस्पेक्टर का शव पेड़ से लटका मिला

 

इन संस्कृत महाविद्यालयों की मान्यता की गई खत्म
1.सनातन धर्म संस्कृत महाविद्यालय, लंढौर (मसूरी)
2. सनातन सत्संग संस्कृत महाविद्यालय, काशीपुर
3. सनातन धर्म संस्कृत महाविद्यालय, हल्द्वानी,
4. सरस्वती संस्कृत महाविद्यालय वसुकेदार, रुद्रपुर
5.जयदयाल अग्रवाल संस्कृत महाविद्यालय, श्रीनगर गढ़वाल
6.मुनीश्वर वेदांत संस्कृत महाविद्यालय, ऋषिकेश
7. रघुनाथ कीर्ति आदर्श संस्कृत महाविद्यालय, देवप्रयाग
8. सनातन धर्म संस्कृत महाविद्यालय में मयकोटी, रुद्रपुर
9. संस्कृत ज्योतिष महाविद्यालय सटियाना, चमोली,
10. श्री ब्रह्मचारी रामकृष्ण संस्कृत महाविद्यालय पालीवाल धर्मशाला, हरिद्वार।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:- PRD जवानों ने सीएम आवास घेराव में दिखाया दम

 

 

 

 

गौरतलब है कि राज्य सरकार के आदेश पर संस्कृत विवि के कुलपति जीके अवस्थी की अध्यक्षता में एक कमेटी ने सभी संस्कृत महाविद्यालयों का निरीक्षण किया था। इस दौरान 10 महाविद्यालय मान्यता से संबंधित भूमि, भवन आदि के अभिलेख उपलब्ध नहीं करा सके। कमेटी ने अभिलेख उपलब्ध कराने के लिए इनको कई मौके दिए पर कागज उपलब्ध नहीं कराए पाए। इस पर कमेटी ने इनकी मान्यता खत्म कर दी। इन महाविद्यालय में सत्र 2021-22 से शास्त्री व आचार्य प्रथम वर्ष की कक्षाओं में छात्रों के प्रवेश लेने पर भी रोक लगा दी है। हालांकि इन महाविद्यालयों में फिरहाल शास्त्री और आचार्य प्रथम वर्ष को छोड़कर अन्य कक्षाओं में अध्ययन कर रहे छात्रों की पढ़ाई जारी रहेगी।

Ad
Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top