UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-यात्रा अवधि रही कम लेकिन फिर भी जमकर उमड़ा आस्था का सैलाब , ये ही है चारधाम की ताकत

कोविड प्रतिबंधों के बावजूद इस साल पांच लाख से अधिक तीर्थ यात्रियों ने चारधाम के दर्शन किए। यात्रा कम अवधि के लिए संचालित होने के बावजूद पिछले साल के मुकाबले यात्रियों की संख्या में रिकार्ड वृद्धि दर्ज की गई है।  विदित है कि इस साल मई महीने में चारधामों के कपाट खुल गए थे। लेकिन कोविड संक्रमण की वजह से हाइकोर्ट ने यात्रा पर रोक लगा दी।

 

 

 

 

सरकार ने यात्रा खोलने के लिए अपील की तो कोर्ट ने यात्रा से रोक हटाते हुए सीमित संख्या में यात्रा शुरू करने की इजाजत दी। हाईकोर्ट के आदेश के बाद 18 सितंबर को चारधामों की यात्रा शुरू हो पाई। लेकिन ई पास की व्यवस्था और यात्रियों की सीमित संख्या के कारण कम ही लोग दर्शन कर पाए। यात्रियों की परेशानी को देखते हुए हाई कोर्ट ने पांच अक्तूबर को यात्रा से जुड़ी ई पास की शर्तें खत्म कर दी।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-तो हरक खेमे में फिर हलचल , रखिए नजर कुछ बड़ा हो सकता है जल्दी

 

 

 

 

 

इसके बाद यात्रा में खासी तेजी आई और बड़ी संख्या में देशभर के लोग दर्शन के लिए पहुंचे। सचिव धर्मस्व एचसी सेमवाल ने कहा कि चारधाम के दर्शनों को लेकर इस साल कोरोना संक्रमण के बावजूद तीर्थ यात्रियों में काफी उत्साह रहा। यही वजह रही कि इस साल पिछले साल की तुलना में अधिक संख्या में तीर्थ यात्री चारधाम दर्शनों को पहुंचे। हमारा प्रयास है कि हर साल अधिक से अधिक संख्या में तीर्थ यात्री चारधाम पहुंचेचारधाम में आमतौर पर बदरीनाथ धाम में सबसे अधिक तीर्थ यात्री दर्शन के लिए पहुंचते हैं। लेकिन इस बार केदारनाथ धाम में सबसे अधिक तीर्थ यात्रियों ने दर्शन किए हैं। देवस्थानम बोर्ड की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार केदारनाथ धाम में इस साल कुल 2,42712 यात्रियों ने दर्शन किए। जबकि बदरीनाथ में 1,97056 यात्रियों ने दर्शन किए हैं। गंगोत्री में 33166 जबकि यमुनोत्री में 33306 तीर्थ यात्रियों ने दर्शन किएपिछले साल 3 लाख 21 हजार ने किए थे दर्शन

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-आज इंतज़ार ना करें आज हरक की कांग्रेस में Joining नहीं होने जा रही , News Height पर हरक ने की पुष्टि

 

 

 

 

 

 

 

2020 में चारधाम यात्रा का संचालन एक जुलाई से शुरू हो गया था। लेकिन चारधाम के कपाट बंद होने तक कुल 3,21749 तीर्थ यात्रियों ने ही दर्शन किए। जबकि इस बार यात्रा कम अवधि में संचालित होने के बावजूद यात्रियों की संख्या 506240 रही है। दिलचस्प बात यह है कि इस बार केदारधाम पहुंचने वाले तीर्थ यात्रियों की संख्या बदरीनाथ जाने वाले यात्रियों से अधिक रही है। जबकि 2019 में चारधाम यात्रा पर कुल 32,38047 तीर्थ यात्री आए थे।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-उत्तराखंड में नहीं खुलेंगे स्कूल , अगले आदेश तक रहेंगे बंद आदेश जारी

 

 

 

 

 

राज्यपाल और सीएम ने दी शुभकामनाएं

चारधाम यात्रा के सफलता पूर्वक सम्पन्न होने पर राज्यपाल गुरूमीत सिंह,  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज और पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने चारधाम यात्रा के सफल समापन पर देश- विदेश के श्रृद्धालुओं को शुभकामनाएं दी है । उन्होंने प्रसन्नता जताते हुए कहा कि चारधाम यात्रा कोरोनाकाल के बावजूद सफल रही। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा बदरीनाथ धाम के  कपाट  बंद होने के बाद अब शीतकालीन पर्यटन को प्रोत्साहित किया जायेगा। मुख्य सचिव डा. एस एस. संधू ने कहा की चारधाम यात्रा कई चुनौतियों के बावजूद  सामूहिक प्रयासों से  पटरी पर आयी।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top