UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-ड्यूटी से गायब चिकित्सको और कर्मचारियों को ढूंढकर अब उनपर होगी कार्यवाही करेगा विभाग

देहरादून:  स्वास्थ्य महानिदेशक डा. तृप्ति बहुगुणा ने निर्देश दिए कि मुख्य चिकित्साधिकारी, प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक व मुख्य चिकित्सा अधीक्षक यह सुनिश्चित करें कि सभी अधिकारी, चिकित्सक एवं अन्य स्टाफअपने कार्यस्थल एवं अस्पताल में समय पर उपस्थित रहें। यदि कोई भी चिकित्सक एवं पैरामेडिकल स्टाफ अनधिकृत तौर पर अनुपस्थित है तो उसके विरुद्ध कठोर दंडात्मक कार्वाई अमल में लाई जाए। सभी श्रेणी के अनुपस्थित अधिकारियों/कार्मिकों का विवरण अविलम्ब महानिदेशालय को भी प्रस्तुत करें, ताकि शासन को अवगत कराते हुए कार्वाई की जा सके।

 

 

 

 

स्वास्थ्य महानिदेशालय सभागार में आयोजित गढ़वाल व कुमाऊं मंडल के अधिकारियों की बैठक में स्वास्थ्य महानिदेशक ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सीएम हेल्पलाइन के मामलों को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारित किया जाए। साथ ही लंबित मामलों की सूचना महानिदेशालय को जल्द उपलब्ध कराई जाए। सीएम की घोषणाओं को समय से पूर्ण करने के निर्देश भी उन्होंने दिए। सभी श्रेणी के कार्मिकों का विवरण,आइपीएचएस मानक के अनुसार वास्तविक स्टाफ पोजिशन एवं रिक्त पदों को भरने की कार्वाई की जानकारी भी उन्होंने ली। यह  निर्देश दिए कि पदोन्नति उपरांत कार्मिकों के कार्यभार ग्रहण न करने या प्रमोशन फारगो करने के मामलों की जानकारी भी महानिदेशालय को भेजी जाए और कार्मिकों की समय पर एसीआर लिखनी सुनिश्चित की जाए।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-यहाँ हरिद्वार में सड़क पर टहलता मिला इतना बड़ा अजगर

 

 

 

 

 

वहीं, क्लीनिकिल एस्टेब्लिशमेंट एक्ट, अस्पतालों में कूड़ा निस्तारण व बायोमेडिकिल वेस्ट निस्तारण की प्रगति की जानकारी भी उन्होंने ली। महानिदेशक ने अधिकारियों को आत्म निर्भर भारत योजना के तहत स्वास्थ्य सेवाओं के विकास एवं विस्तार के प्रस्ताव भी उपलब्ध कराने को कहा है।
बैठक में स्वास्थ्य निदेशक डा. शैलजा भट्टï, निदेशक प्रशासन डा. विनीता शाह, निदेशक गढ़वाल मंडल डा. भारती राणा, प्रभारी निदेशक डा. सुमन आर्य और महानिदेशालय में तैनात समस्त अपर निदेशक, संयुक्त निदेशक एवं विभिन्न योजनाओं के राज्य नोडल अधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड ने विजय हजारे वनडे टूर्नामेंट के लिए की टीम की घोषणा , इस खिलाड़ी को मिली कप्तानी की जिम्मेदारी

 

 

 

 

 

 

सख्त हिदायत, अस्पताल में ना रहे दवा की कमी
स्वास्थ्य महानिदेशक ने अधिकारियों को सख्त हिदायत दी है कि अस्पताल में औषधियों की कमी कतई नहीं होनी चाहिए। वहीं, सभी अस्पतालों में एंटी-रेबीज वैक्सीन हर समय उपलब्ध होनी चाहिए। यह भी निर्देश दिए कि चिकित्सा उपकरणों की आवश्यकतानुसार खरीद को समय पर डिमांड भेजना सुनिश्चित करें। वहीं, वित्त निदेशक कविता नबियाल ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए आवश्यकतानुसार बजट की मांग तैयार कर समय से उपलब्ध कराएं। वहीं, चालू वित्तीय वर्ष के लिए जारी बजट का शत-प्रतिशत एवं नियमानुसार पूर्ण उपयोग करने के निर्देश भी उन्होंने दिए हैैं।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-शहीद चित्रेश बिष्ट के घर से सीएम ने सैन्य धाम के लिए आंगन की मिट्टी ली , कही ये बड़ी बात

 

 

 

 

 

 

 

जन औषधि केंद्र खोलने के इच्छुक व्यक्तियों के लिए अवसर
महानिदेशक ने जन-औषधि केंद्रों की भी समीक्षा की। जिसमें प्रत्येक अस्पताल परिसर में जन-औषधि केंद्र खोले जाने एवं इच्छुक व्यक्तियों को इन केंद्रों के लिए अस्पताल परिसर में स्थान उपलब्ध कराए जाने के निर्देश उन्होंने दिए। बता दें, प्रधानमंत्री जन-औषधि योजना के तहत बड़े अस्पतालों में जन-औषधि केंद्र खोलने के निर्देश केंद्र सरकार ने दिए हैं। इच्छुक व्यक्तियों/ संस्था को जन-औषधि केंद्र खोलने के लिए विशेष सुविधाएं प्रदान कर प्रोत्साहित किया जा रहा है

Ad
Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top