National news

Big breaking :-Taxpayers को लगेगा बड़ा झटका! क्या खत्म हो सकती है Old Tax Slab व्यवस्था, नहीं मिलेगी कोई छूट

 

Old Income Tax Regime : लगातार बढ़ रही महंगाई को देखते हुए सरकार करदाताओं को बड़ा झटका देने की तैयारी में है. पुरानी टैक्स व्यवस्था को खत्म किया जा सकता है, जिसमें 70 तरह की छूट मिलती है. रेवेन्यू सेक्रेटरी तरुण बजाज का कहना है कि इनकम टैक्स की पुरानी व्यवस्था के प्रति करदाताओं का आकर्षण घटाने की जरूरत है.

 

 

 

नई दिल्ली. लगातार बढ़ रही महंगाई को देखते हुए सरकार करदाताओं को बड़ा झटका देने की तैयारी में है. पुरानी टैक्स व्यवस्था को खत्म किया जा सकता है, जिसमें 70 तरह की छूट मिलती है. रेवेन्यू सेक्रेटरी तरुण बजाज का कहना है कि इनकम टैक्स की पुरानी व्यवस्था के प्रति करदाताओं का आकर्षण घटाने की जरूरत है. इसे ज्यादा लोग इनकम टैक्स की नई व्यवस्था को अपनाने के लिए प्रोत्साहित होंगे.

इनकम टैक्स की नई व्यवस्था 2020 में शुरू हुई थी. इसमें टैक्स की दर भले ही कम है, लेकिन डिडक्शन की सुविधा नहीं मिलती है. छूट नहीं मिलने की वजह से नई टैक्स व्यवस्था के प्रति करदाताओं ने दिलचस्पी नहीं दिखाई है. ज्यादातर करदाता पुरानी टैक्स व्यवस्था के साथ ही अपना इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करते हैं.

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-सीबीएसई ने परीक्षा का नियम बदला, साल में अब एक बार होगी 10वीं व 12वीं की परीक्षा- प्रश्नपत्रों में भी बदलाव

 

 

 

 

2020-21 में आया था नया टैक्स स्लैब

सरकार ने वित्त वर्ष 2020-21 के बजट में टैक्स की नई व्यवस्था पेश की थी. कहा था कि टैक्स की यह व्यवस्था काफी आसान है. इंडिविजुअल करदाताओं के लिए इसमें टैक्स रेट कम है. लेकिन, उन्हें स्टैंडर्ड डिडक्शन और सेक्शन 80सी की सुविधा नहीं मिलती है. स्टैंडर्ड डिडक्शन और सेक्शन 80सी की सुविधा से टैक्स का बोझ कम हो जाता है.

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-क्या बात शिक्षा मंत्री के गृह जनपद में क्यों काम नहीं करना चाहते शिक्षा विभाग के अधिकारी

5 लाख तक कोई टैक्स नहीं

नई व्यवस्था में 5 से 7.5 लाख रुपये सालाना इनकम वाले करदाताओं को 10 फीसदी टैक्स देना पड़ता है. पुरानी व्यवस्था में इतनी इनकम पर 20 फीसदी टैक्स देना पड़ता है. हालांकि, सेक्शन 87ए के तहत मिलने वाली रिबेट के चलते सालाना 5 लाख रुपये तक की इनकम वाले लोगों को नई या पुरानी व्यवस्था में कोई टैक्स नहीं देना पड़ता है.

 

 

 

8.5 लाख कमाई पर भी टैक्स नहीं

बजाज ने कहा कि सरकार ने पर्सनल इनकम टैक्स में कमी लाने के लिए नई व्यवस्था पेश की थी. लेकिन, बहुत कम लोगों ने इसमें दिलचस्पी दिखाई है. इसकी वजह यह है कि लोगों को लगता है कि किसी व्यवस्था में वह 50 रुपये भी कम टैक्स चुकाएंगे तो वे उसी व्यवस्था का इस्तेमाल करना चाहते हैं. देश में 80सी और स्टैंडर्ड डिडक्शन का इस्तेमाल करने वाले 8-8.5 लाख सालाना इनकम वाले लोगों को कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ता है.

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-मेरा स्वभाव शांत जरूर है लेकिन मैं सख्ती वाले एक्शन करता हूं

इसलिए नया स्लैब नहीं चुनते लोग

उन्होंने कहा कि यही वजह है कि लोग नई व्यवस्था का इस्तेमाल नहीं करना चाहते. इसलिए जब तक हम पुरानी व्यवस्था का आकर्षण नहीं घटाएंगे, लोग नई व्यवस्था को अपनाने के लिए आने नहीं आएंगे. जब तक हम ऐसा नहीं करेंगे, हम अपने टैक्स रेट को आसान नहीं बना सकेंगे.

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top