UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-रक्षा मंत्री राजनाथ का बड़ा बयान , नेपाल , तिब्बत से रिश्ते खराब करने वाली कुछ ताकते हैं , हमे सिर भी थोड़ा झुकना पड़े हमे मंजूर है

देहरादून। उत्तराखंड में पांचवें धाम के रूप में बनने वाले सैन्यधाम का रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शिलान्यास किया। यहां उन्होंने शहीदों की मिट्टी पर पुष्पांजलि अर्पित की। जनता को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उत्तराखंड सरकार का आभार जताया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चार साल पहले पांचवें धाम की बात कही थी।

 

 

 

राज्य सरकार ने इसे आगे बढ़ाने का काम किया। उन्होंने उम्मीद जताई कि सैन्य धाम का निर्माण जल्द से जल्द पूरा होगा।
राजनाथ सिंह ने कहा, उत्तराखंड वीरों की और शौर्य-पराक्रम की भूमि है। राज्य के किसी भी हिस्से में चले जाइये वीरता के किस्से सुनाई देते हैं। उन्होंने कहा कि जो भी सैन्यधाम आएगा, यहां से प्रेरणा लेकर जाएगा। इस दौरान उन्होंने सीडीएस जनरल बिपिन रावत को भी याद किया। बता दें कि यहीं शहीद सम्मान यात्रा का भी समापन होगा। कार्यक्रम में 204 शहीदों के स्वजन व वीर नारियों को सम्मानित किया जाएगा। सैन्यधाम के मुख्य द्वार का नाम सीडीएस स्व. जनरल बिपिन रावत के नाम पर रखने का निर्णय लिया गया है।उन्होंने साफ कहा कि  नेपाल व तिब्बत से संबंधित है। कुछ ताकतें हैं। जो रिश्ते खराब करना चाहते हैं। हमे सिर झुकाकर रहना पड़े तो ऐसा भी करेंगे। नेपाल हमारा अभिन्न मित्र है । लिपुलेख के लिए मार्ग को स्वीकृति हो गई।

उनके अनुसार पीएम मोदी ने 4 साल पहले कहा था। पांचवा धाम सैन्य धाम। अपेक्षा के अनूरूप उत्त्तराखण्ड सरकार ने यह कार्य किया है। जल्दी से जल्दी काम शुरू होना चाहिए। देवभूमि वीरों की भूमि है। शौर्य पराक्रम की भूमि है। तत्तकालीन वाजपेयी ने कहा था अलग उत्त्तराखण्ड की पैरवी कि थी। तब से तेजी से विकास हो रहा।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-आज इंतज़ार ना करें आज हरक की कांग्रेस में Joining नहीं होने जा रही , News Height पर हरक ने की पुष्टि

 

1734 शाहिद परिवारों कर आंगन मिट्टी लाकर ये धाम बनेगा। देश के लिए सर्वस्व निभाने वाला शाहिद होता है। छोटे मन के लोग ये काम नहीं कर सकते। भारत पर ब्रिटिश हुकूमत थी तब किशोरों ने हँसते हंसते फांसी को चूम लिया।

 

 

ऐसे लोग जिन्होंने राष्ट्र के लिए सर्वस्व दिया उनके आंगन की मिट्टी लायी है। ये कोई छोटा काम नहीं है। जिस समय मैं ये मिट्टी मिला रहा था तब मैंने इस पवित्रंमिट्टी को मस्तक लगाया। जो आएगा वो यहां से प्रेरणा लेकर जाएगा। गढ़वाल वीरों की धरा है,   जनरल रावत भी इसी वीरभूमि से थे। देश को बड़ी क्षति है। बहुत दुःखद रहा। वो जिम्मेदारी को पूर्ण करने के लियू अथक प्रयास कर रहे थे। लोगों के दिलो में हमेशा रहेंगे।

मोदीजी की प्रेरणा से बन रहा है। सोमनाथ, केदारनाथ, अयोध्या का पुनरोद्धार किया जा रहा है  भारत किसी भी सूरत में सांस्कृतिक जड़ो से कटने न पाए ये हमारी कोशिश है ।

 

ये जो धाम बन रहा है। ये यही तक सीमित न रहें। सभी शहीदों के नाम दीवार पर अंकित किये जायें। अगर कोई ऑनलाइन भी श्रधांजलि देना चाहता तो ऐसी व्यवस्था की जाए।

पीएम के नेतृत्व की पूरी सरकार, सैनिक व पूर्व सैनिक का सम्मान करते हैं। one रैंक one पेंशन हमने दी। कई चीजें हुई है 2006 से पहले रिटायर्ड सूबेदार को कब revise पेंशन का लाभ मिलेगा। एसएससी से आये अफसरों को दुःख था कि अपने रैंक का इस्तेमाल कर सकते हैं। तीनों सेनाओं के पेंशन revise कर दी है। january तक बड़े फैसले होंगे। पहले पेंशन के मामले अब लटके नहीं रहेंगे। अब पेंशन ग्रीवांस सेल बना दिया है। उत्त्तराखण्ड कि सरकार ने भी पूर्व सैनिकों के लिए बड़े निर्णय लिए हैं।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-हरक सिंह बोले प्रदेश में आ रही कांग्रेस की सरकार , बीजेपी दूर दूर तक नहीं , कहा पता नही कैसे देश चला रहे ये बीजेपी वाले

 

 

हमारी सरकार ने कभी सेनाओं के हाथ नहीं बांधे। हमेशा साथ खड़े हैं। पाकिस्तान नापाक हरकत करता रहता है लेकिन मोदी सरकार ने सर्जिकल व एयर स्ट्राइक से बड़ा संदेश दिया।

 

 

 

कुछ साल पहले इंटरनेशनल मंच पर भारत की सुनवाई नहीं थी। आज भारत को सुना जाता है।

हम देश मे बुनियादी ढांचों की तैयारी कर रहे हैं। गति शक्ति मास्टर प्लान बनाया है। रोड व रेल, एयर कनेक्टिविटी को बढ़ा सकें। 100 लाख करोड़ की योजना बनाई गई है। उत्तराखंड में शांति सुरक्षा को लेकर दिक्कत नहीं है। कनेक्टिविटी की दिशा में ऐतिहासिक काम हुए हैं।

आल weather रोड को सुप्रीम कोर्ट ने क्लियर कर दिया। ये गढ़वाल व कुमाऊँ को नजदीक लाया जाएगा। रेल, एयरपोर्ट का विस्तार हो रहा है। पर्यटन की दृष्टि से काम हो रहा है।

 

 

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का कहना है कि केंद्र सरकार ने सैनिकों का मनोबाल बढ़ाने का काम किया है। सेना के सशक्तिकरण की रक्षामंत्री की जो दूरदृष्टि है, उसका आगे भी अनुसरण किया जाएगा। इस दौरान उन्होंने दिवंगत सीडीएस जनरल बिपिन रावत को याद किया। कहा, उत्तराखंड से उन्हें गहरा लगाव था। उनके राज्य को लेकर कई सपने थे, जो अब राज्य सरकार पूरा करेगी। यह स्थान युवाओं को देशसेवा के लिए प्रेरित करेगा। कई पीढियां यहां शहीदों की वीर गाथा से रूबरू होती रहेगी।सीएम धामी ने कहा कि सैनिकों का सम्मान सरकार की प्राथमिकता है। सैन्य धाम को पूर्ण मनोयोग से बनाया जाएगा। सैनिकों का सम्मान ही हमारा सम्मान है। मोदी सरकार ने सेना को छूट दी है। आज गोली का जवाब गोली से दिया जाता है। सेना को सशक्त बनाया जा रहा है। हम शहीदों का कर्ज कभी नहीं चुका सकते।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-अब चाहे हरीश करें विरोध या फिर प्रीतम भी ना करें पैरवी ऐसे मिलेगा आयेंद्र शर्मा को सहसपुर से कांग्रेस का टिकट

 

 

 

 

 

रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने कहा कि देश शहीदों का ऋणी है। सैन्य धाम एक ऐतिहासिक पहल है। देश-दुनिया के लोग इसे देखने आएंगे। आज प्रधानमंत्री की अगुआई में देश एक मजबूत शक्ति बनकर उभरा है। जमीन पर, नभ और जल में दुश्मन भारत की तरफ आंख उठाकर नहीं देख सकता। हम रक्षा उत्पाद में आत्मनिर्भर बन रहे हैं। सेना के साजोसामान निर्यात करने वाले टाप-25 में आ गए हैं।

 

 

 

 

 

सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने कहा, देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की परिकल्पना से सैन्य धाम का निर्माण किया जा रहा है। देश में हर पांचवां सैनिक उत्तराखंड से है। सेना में 17.5 प्रतिशत मैनपावर यहीं से है। सैनिकों के हित को लेकर केंद्र और राज्य सरकारें लगातार काम कर रही हैं। उन्होंने कहा कि सैन्य धाम में आम जनमानस का सहयोग मिल रहा है। सैन्यधाम ऐसा बनेगा कि लोग चारधाम की यात्रा को आएंगे तो इस पांचवें धाम के भी दर्शन करेंगे।भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि रक्षा मंत्री के नेतृत्व और प्रधानमंत्री के निर्देशन में सेना का आधुनिकीकरण हो रहा है। पाकिस्तान को कड़ा संदेश दिया कि गोली का जवाब गोले से दिया जाएगा। राफेल के पूजन से भी एक अलग संदेश दिया गया।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top