DEHRADUN NEWS

Big breaking :-स्मार्ट सिटी कार्यों की धीमी प्रगति से देहरादून DM नाराज, 4 साल में हुए कार्यों का ब्यौरा किया तलब

राजधानी के विभिन्न इलाकों में स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत करोड़ों रुपये की लागत से कराए जा रहे निर्माण कार्यों की धीमी प्रगति पर नाराजगी जताते हुए सीईओ/जिलाधिकारी डॉ. आर राजेश कुमार ने सभी निर्माणदायी एजेंसियों से चार साल में कराए गए कार्यों का ब्योरा तलब किया है। उनका कहना है कि जिन निर्माणदायी एजेंसियों की प्रगति ठीक नहीं पाई जाएगी उनके खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी।

 

 

 

निर्माण कार्यों की गुणवत्ता केे लेकर उठ रहे सवालों के बीच जिलाधिकारी/सीईओ डॉ. आर राजेश कुमार ने स्मार्ट सिटी परियोजना से जुड़े तमाम निर्माण कार्यों का थर्ड पार्टी आडिट कराने को लेकर आईआईटी रुड़की, जलविज्ञान संस्थान रुड़की व आईआरआई के निदेशकों को भी पत्र लिखा है।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-कुमाऊँ विश्वविद्यालय का 17वा दीक्षांत समारोह हुआ आयोजित,58,640 विद्यार्थियों को उपाधियां प्रदान की गई

 

 

उल्लेखनीय है कि स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत राजधानी दून में एक हजार करोड़ रुपये की लागत से कई निर्माण कार्य कराए जा रहे हैं। परियोजना के तहत जिन कार्यों को कराया जा रहा है उसमें राजधानी के ईसी रोड, चकराता रोड, राजपुर रोड पर साढ़े आठ किमी लंबी सड़क को स्मार्ट रोड में विकसित किया जाना, मल्टी यूटिलिटी डक्ट (एमयूडी) का निर्माण किया जाना है। राजधानी के तमाम इलाकों में स्मार्ट शौचालय बनाने के साथ ही 49 व्यस्ततम चौराहों पर अत्याधुनिक ट्रैफिक लाइटें भी लगाई जानी है।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-UK Board Class 10 Result 2022: उत्‍तराखंड बोर्ड 10वीं का रिजल्‍ट इस तारीख को हो सकता है जारी, संभावित तारीख पर चेक करें अपडेट

 

 

इसके अलावा स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत जल निकासी व्यवस्था को चाक-चौबंद करने के साथ ही 187 करोड़ की लागत से ग्रीन बिल्डिंग का निर्माण किया जाना है जिसमें कलेक्ट्रेट, समेत तमाम सरकारी विभागों के कार्यालय खोले जाएंगे। शहर में तीस इलेक्ट्रिक बसों का संचालन किया जाना है। परियोजना को धरातल पर उतारने के लिए सरकार की ओर से अब तक पांच सौ करोड़ रुपये का भारी भरकम बजट भी जारी किया जा चुका है। तमाम परियोजनाओं पर काम भी जारी है, लेकिन स्मार्ट सिटी योजना के तहत जो भी कार्य कराए जा रहे हैं, उनमें से ज्यादातर परियोजना की गति बेहद धीमी है, जिसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है। इसे गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी ने अब निर्माणदायी एजेंसियों से उनके द्वारा कराए गए निर्माण कार्यों की प्रगति मांगी है

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top