DEHRADUN NEWS

Big breaking:-देहरादून में हज़ारों पेड़ो की कुर्बानी , लगातार लोग पेड़ बचाने की मुहिम में हो रहे एकजुट

गणेशपुर से डाटकाली मंदिर के बीच करीब 12 हजार पेड़ों का विनाश कर दिल्ली-देहरादून राजमार्ग चौड़ीकरण परियोजना का विकास किया जाना है। इतनी ज्यादा संख्या में पेड़ों के कटान को रोकने के लिए दून के 19 गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) लामबंद हो गए हैं। एनजीओ कार्यकर्त्ता मोहंड बचाओ अभियान के तहत शनिवार को मोहंड पहुंचे और पेड़ों को कटने से बचाने के लिए प्रदर्शन किया


इस परियोजना के तहत मोहंड क्षेत्र में बसे दर्जनों वन गुर्जरों के डेरों को भी शिफ्ट करने के आदेश हैं। लिहाजा, एनजीओ कार्यकर्त्ताओं ने अभियान में वन गुर्जरों को भी शामिल कर लिया है। मोहंड बचाओ अभियान से जुड़ते हुए वन गुर्जर चौड़ीकरण की जद में आने वाले पेड़ों से चिपक गए और ऐतिहासिक चिपको आंदोलन की तर्ज पर पेड़ों को कटने से बचाने की मांग की।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-सीएम पुष्कर सिंह धामी ने द हंस फाउण्डेशन डायलिसिस केन्द्र का लोकार्पण किया , मुख्यमंत्री ने माता मंगला को जन्मोत्सव की बधाई दी

आंदोलन की संयोजक द अर्थ एंड क्लाइमेट इनिशिएटिव की प्रतिनिधि डा. आंचल शर्मा ने कहा कि समूची दूनघाटी पर्यावरण की नजर से संवेदनशील है। यहां पेड़ों के कटान को रोकने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि विभिन्न संगठनों ने हरियाली नहीं तो वोट नहीं मुहिम शुरू की है। जिस राजनीतिक दल के घोषणा पत्र में पर्यावरण संरक्षण की बात नहीं होगी, उसे वोट नहीं दिया जाएगा। एनजीओ कार्यकर्त्ता संदीप चौहान ने कहा कि जब तक पेड़ों के कटान का विकल्प नहीं तलाशा जाता, तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

Ad
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top