UTTRAKHAND NEWS

Big breaking :-चार धाम तीर्थयात्रियों की रिकार्ड संख्या, पांच माह में चालीस लाख से अधिक पहुंची चारधाम यात्रियों की संख्या

Ad

• चार धाम तीर्थयात्रियों की रिकार्ड संख्या

*पांच माह में चालीस लाख से अधिक पहुंची चारधाम यात्रियों की संख्या*

2019 में छ: माह में हेमकुंट साहिब सहित 32 लाख थी तीर्थयात्रियों की संख्या

*मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चारधाम यात्रा में रिकॉर्ड तीर्थयात्रियों के पहुंचने पर प्रसन्नता जताई कहां तीर्थयात्रियों को सरल सुगम यात्रा हेतु प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध*

• चारों धामों में कुछ दिन पहले हुई बर्फवारी के बाद मौसम सामान्य।
• यात्रा सुचारू चल रही।

• केदारनाथ के लिए निरंतर चल रही हवाई सेवा।

• अभी तक श्री बदरीनाथ साढ़े पंद्रह लाख केदारनाथ साढ़े चौदह लाख से अधिक , गंगोत्री पहुंचे छ: लाख से अधिक तथा यमुनोत्री पहुंचे पौने पांच लाख से अधिक तीर्थयात्री।
श्री हेमकुंट साहिब लोकपाल तीर्थ कपाट बंद होने तक इस यात्रा वर्ष दो लाख सैंतालीस हजार श्रद्धालु पहुंचे।

देहरादून 11 अक्टूबर। उत्तराखंड चारधाम यात्रा में श्रद्धालुओं की संख्या में भारी बढ़ोतरी हुई है । बरसात के मौसम के बाद यात्रियों की संख्या बढ़ गयी है।
चारो धामों में अभी तक पांच माह में रिकार्ड चालीस लाख से अधिक तीर्थयात्री पहुंच गये है। हेमकुंट साहिब एवं लोकपाल तीर्थ को मिलाकर यह आंकड़ा तैतालीस लाख पहुंच गया है। इस तरह अब तक कई दशकों के रिकार्ड भी टूट गये हैं। वर्ष 2019 में संपूर्ण यात्रा काल छ: माह में हेमकुंट साहिब सहित 32 लाख तीर्थयात्री चारधाम पहुंचे थे।
प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चारधाम यात्रा में रिकॉर्ड तीर्थयात्रियों के पहुंचने पर प्रसन्नता जताई कहा कि प्रदेश सरकार सुगम चारधाम यात्रा तथा “अतिथि देवो भव:” के अनुसार तीर्थयात्रियों की सेवा हेतु प्रतिबद्ध है।

पर्यटन- धर्मस्व मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि चारधाम यात्रा में बड़ी संख्या में तीर्थयात्रियों की आमद प्रदेश सरकार की उपलब्धि है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेंद्र भट्ट, कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल, कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत सहित श्री बदरीनाथ- केदारनाथ मंदिर समिति अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने चारधाम यात्रा पर पहुंच रहे सभी तीर्थयात्रियों को शुभकामनाएं दी है।
चारों धामों में श्रद्धालुओं की प्रतिदिन की संख्या भी बढ़ गयी है। आज तक चालीस लाख उनचास हजार एक सौ पचास तीर्थयात्री उत्तराखंड चारधाम दर्शन हेतु पहुंच गये है। मानसून से यात्रा में कमी देखी गयी थी लेकिन बारिश कम होते ही तथा श्राद्ध पितृ पक्ष के बाद से बदरीनाथ- केदारनाथ में दस से बारह हजार तक तीर्थयात्री प्रतिदिन पहुंच रहे हैं गंगोत्री- यमुनोत्री में तीन से पांच हजार तक तीर्थयात्री पहुंच रहे है। यात्रा के अंतिम चरण में तीर्थ यात्रियों की संख्या बढ़ गयी है ।चारों धामों में बर्फवारी के बाद यदा -कदा हल्की बारिश है लेकिन आज मौसम सामान्य है। चारधामों के राष्ट्रीय राजमार्ग सुचारू है ।
तोताघाटी,शिरोबगड़,लामबगड़ एवं पागलनाला जैसे भूस्खलन रूक गया है। फलस्वरूप यात्रा सुचारू है। केदारनाथ हेली सेवा बारिश से आंशिक रूप से प्रभावित हुई थी लेकिन बरसात में भी हेली सेवा जारी रही । वर्तमान में हेली सेवा सुचारू चल रही है। गंगोत्री राजमार्ग सुचारू है यमुनोत्री राजमार्ग सुचारू है।
श्री बदरीनाथ- केदारनाथ मंदिर समिति के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि श्री बदरीनाथ धाम कपाट खुलने की तिथि 8 मई से आज तक 1531953 तीर्थयात्री धाम पहुंच गये। श्री केदारनाथ धाम कपाट खुलने की तिथि 6 मई से आज तक 1436451 तीर्थयात्री केदारनाथ पहुंच गये।
इसमें हेलीकॉप्टर से पहुंचे 132006 तीर्थयात्री भी शामिल हैं।
श्री यमुनोत्री धाम कपाट खुलने की तिथि 3 मई से आज तक 475172 तथा श्री गंगोत्री धाम कपाट खुलने की तिथि 3 मई से आज तक 605574 तीर्थयात्री यमुनोत्री पहुंच गये है।अभी तक श्री बदरीनाथ-केदारनाथ पहुंचनेवाले कुल तीर्थयात्रियों की संख्या का योग-29688404 है ।
श्री यमुनोत्री -गंगोत्री पहुंचे तीर्थ यात्रियों की संख्या 1080746 रही।‌ आज तक उत्तराखंड चारधाम पहुंचे संपूर्ण तीर्थयात्रियों की संख्या 4049150( चालीस लाख उनपचास हजार एक सौ पचास ) है। आज शुक्रवार शाम तक श्री बदरीनाथ 8452 केदारनाथ, 11373 तथा यमुनोत्री 1777 गंगोत्री 5434 श्रद्धालु पहुंचे। कपाट खुलने की तिथि 22 मई से कपाट बंद होने की तिथि 10अक्टूबर तक श्री गुरूद्वारा हेमकुंट साहिब एवं लोकपाल तीर्थ पहुंचे तीर्थ यात्रियों की संख्या 247000 रही है। इस यात्रा वर्ष श्री बदरीनाथ धाम के कपाट 19 नवंबर, श्री केदारनाथ धाम तथा यमुनोत्री धाम के 27 अक्टूबर भैया दूज तथा श्री गंगोत्री धाम के कपाट 26 अक्टूबर को शीतकाल हेतु बंद हो रहे हैं।
चारों धामों में मानसून की दस्तक के साथ ही प्रतिदिन के यात्रियों की संख्या में गिरावट आयी थी लेकिन पुनः यात्रा को गति मिली है। यात्रा निरंतर चल रही है। प्रदेश सरकार, पुलिस-प्रशासन, आपदा प्रबंधन, एसडीआरएफ, उत्तराखंड पर्यटन, बदरी-केदार मंदिर समिति द्वारा यात्रियों से अपील की जा रही है कि मौसम के अलर्ट सहित बारिश- भूस्खलन तथा सड़कों की स्थिति के अनुसार यात्रा मार्गों पर आगे बढ़े। अधिक बारिश होने पर सुरक्षित स्थानों में रूक जाये। रात्रि के समय यात्रा में सावधानी रखें। कोविड बचाव हेतु सावधानियां रखें मास्क पहने, सेनिटाइजर का प्रयोग तथा कोविड टीकाकरण अवश्य करवायें।
उत्तराखंड सरकार ने यात्रियों की सुविधा-सुरक्षा हेतु तीर्थयात्रियों के पंजीकरण को अनिवार्य किया है तीर्थयात्री उत्तराखंड पर्यटन की वेबसाइट से घर बैठे आनलाइन पंजीकरण के अलावा हरिद्वार ऋषिकेश के अलावा भी चारधाम के सभी फिजीकल रजिस्ट्रेशन काउंटरों पर फोटोमेट्रिक आनलाईन रजिस्ट्रेशन कर सकते है। चारधाम यात्रा पंजीकरण हेतु उत्तराखंड पर्यटन विभाग की वेबसाइट http://registrationandtouristcare.uk.gov.in तथा हेलीकॉप्टर बुकिंग हेतु https://heliservices.uk.gov.in तथा श्री बदरीनाथ- केदारनाथ धाम की पूजाओं की जानकारी हेतु https://badrinath-kedarnath.uk.gov.in पर संपर्क किया जा सकता है।
चारधाम तीर्थयात्रियों के आंकड़े श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति/ पुलिस- प्रशासन/ आपदा प्रबंधन / गुरुद्वारा श्री हेमकुंट साहिब प्रबंधन ट्रस्ट के सहयोग से लोकसूचनार्थ तथा मीडिया तक चारधाम यात्रा संबंधित आंकड़ों की जानकारी पहुंचाने के मद्देनजर जारी किये गये हैं।

Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top