NAINITAL NEWS

Big breaking :-कैची धाम में 15 जून को भक्तों का मेला,2 साल बाद लौटेगी रौनक

कैंची धाम में 2 साल बाद लौटेगी रौनक- 15 जून को भक्तों का मेला, पहली बार गैस के भट्ठों पर बनेंगे मालपुआ

कैंची धाम में दो साल बाद रौनक लौटने वाली है। नीम करौली आश्रम के स्थापना दिवस 15 जून को भक्तों का मेला लगेगा। पहली बार गैस के भट्ठों पर मालपुआ बनाया जाएगा। नीम करौली आश्रम ने तैयारियां पूरी कर ली हैं।

दो साल बाद इस बार कैंची धाम का 58वां स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया जाएगा। भंडारे और मेले के लिए पुलिस प्रशासन सहित मंदिर समिति ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। पहली बार गैस के भट्ठों पर मालपुओं का प्रसाद बनाया जाएगा। मंदिर में करीब 8 से 10 छोटे-बड़े गैस के भट्ठे लगाए गए हैं। अब तक यहां लकड़ी के चूल्हों पर मालपुआ बनाए जाते थे।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-अब इस विभाग में हुए तमाम अटैचमेंट ख़त्म, अब ये निर्देश हुए जारी

मंदिर में रविवार से मालपुआ बनाने का काम शुरू हो गया है। 15 जून को कैंची धाम में नीब करौली बाबा के मेले में मालपुआ का प्रसाद बांटा जाता है। शुद्ध देशी घी से बने मालपुआ बनाने के यहां अलग नियम हैं। प्रसाद बनाने में वही श्रद्धालु भाग ले सकता है, जो व्रत लेकर आए और धोती, कुर्ता धारण कर उस अवधि में लगातार हनुमान चालीसा का पाठ कर रहा हो ।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-उत्तराखंड से दिल्ली जाने वाली रोडवेज की 250 में से 200 बसें 1 अक्टूबर से दिल्ली नहीं जा पाएंगी जानिए क्यों

रविवार सुबह से तीन दिन तक लगातार प्रसाद बनाने का काम चालू रहेगा। प्रसाद को एफएसएसआई द्वारा प्रमाणित किया जाएगा। बताया गया प्रसाद के रूप में मालपुआ बांटने की इच्छा बाबा नीम करौली महाराज की ही थी। सोमवार से बारी-बारी से श्रद्धालु प्रसाद बनाने में अपनी भागीदारी करेंगे।

मालपुआ बनाने के बाद उन्हें पेटियों और डलियों में रख दिया जाता है। 15 जून की सुबह बाबा को भोग लगाने के बाद इसे प्रसाद के रूप में बांटा जाता है। केंची मंदिर के प्रसाद को पाने के लिए देश-विदेश से लोग यहां पहुंचते हैं। कई लोग अपने रिश्तेदारों और दोस्तों के माध्यम से प्रसाद मंगाते हैं।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-दादी ने गंगा में लगा दी छलांग, वीडियो हो गया वायरल

मंदिर समिति के अनुसार प्रसाद बांटने के लिए लाखों की संख्या में कागज की थैलियां मंगाई गई हैं। मंदिर ट्रस्ट जहां श्रद्धालुओं के लिए उचित व्यवस्था में जुटा है, वहीं पुलिस प्रशासन चौकसी के इंतजाम में लगा है।

इस वर्ष पहली बार गैस के भट्ठों पर मालपुआ बनाए जा रहे हैं। मालपुआ बनाने के लिए फिरोजाबाद से कारीगर आ गए हैं। मालपुआ बनाने शुरू कर दी गई है। प्रसाद बांटने के लिए कागज की थैलियां मंगाई गई हैं। विनोद जोशी, कैंची मंदिर समिति प्रबंधक

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top