UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-अब विनोद ने खोली आप की पोल , कहा सपनों का सौदागर

सिर्फ प्रचार तंत्र के बूते उत्तराखण्ड में सियासी जमीन तलाश रही आम आदमी पार्टी का कुनबा बनने से पहले ही बिखरने लगा है। वो प्रभावशाली लोग ‘आप’ से दूर छिटकने लगे हैं, जिनकी उम्मीदों को केजरीवाल ने पंख लगाए थे।

 

ऐसे ही लोगों में से एक हैं विनोद कपरवान। महज चार महीनों में ही कपरवान आम आदमी पार्टी की रीति–नीति से अजीज आ गए। उन्होंने हाल ही में फिर से भाजपा का दामन थामकर घर वापसी की है। सूत्रों की मानें तो कपरवान जैसे कई नेता हैं जो जल्दी ही आप का साथ छोड़ सकते हैं।

 

बकौल विनोद कपरवान आम आदमी पार्टी सपनों की सौदागर है। यह पार्टी उत्तराखण्ड में झोली भरकर सपने लाई है। अच्छे राजनैतिक विकल्प की तलाश कर रहे राज्य के युवा शीर्ष नेताओं के झांसे में आकर आम आदमी पार्टी को ज्वाइन कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-IIT रुड़की के कैंपस प्लेसमेंट में छात्र को मिला अब तक का सबसे बड़ा पैकेज , मिला 2.5 करोड़ का सालाना अंतरराष्ट्रीय पैकेज

 

ज्वाइन करने के बाद उन्हें समझ में आ रहा है कि आप तो एक रेजिमेंटल पार्टी है, जिसमें सिर्फ शीर्ष के नेताओं की चलती है। पदाधिकारियों और आम कार्यकर्ताओं के सुझाव उनके लिए मायने नहीं रखते। कपरवान का कहना है कि आम आदमी पार्टी के नेताओं का पहाड़ और पहाड़ के लोगों से कोई सरोकार नहीं है। पहाड़ के लोगों का दर्द उन्हें महसूस नहीं होता। दुर्गम और विषम भौगोलिक क्षेत्रों में रह रहे लोगों की पीड़ा आप के नेताओं को होती तो वो रैणी की दर्दनाक घटना में जोशीमठ पहुंचते।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-इसे कहते है सीएम , आम आदमी की तरह कैसे ठेले पर खा रहे राजमा चावल , देखिए वीडियो

 

आंदोलन करके जूझ रहे घाट के लोगों की हौसलाफजाई करने नंदप्रयाग आते। उन्होंने कहा कि पहाड़ के विकास के लिए आम आदमी पार्टी के पास अभी तक कोई रोडमैप नहीं है। दूरस्थ इलाके के व्यक्ति तक विकास की धारा कैसे पहुंचेगी इसका कोई खाका आप अभी तक नहीं खींच पाई है।

 

कभी पूरे न हो पाने वाले सपने दिखाकर वोट बैंक तैयार करने की कोशिशें हो रही हैं। इस बात पर फोकस नहीं किया जा रहा है कि जनसरोकार के मुद्दों को लेकर संघर्ष करके जनता का विश्वास जीता जाए। प्रयास ये हो रहे हैं कि प्रपंच करके कैसे मतदाताओं को झांसे में रखा जाए। आम आदमी पार्टी जनता के लिए ‘बिजली–पानी फ्री’ का लॉलीपॉप लेकर आई है, हालांकि उत्तराखण्ड की जनता स्वाभिमानी और समझदार है, वो मुफ्तखोर कतई नहीं है।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-देवस्थानम बोर्ड के बाद सीएम धामी अब भू कानून को लेकर ले सकते हैं बड़ा फैसला , 7 दिसंबर को बुलाई महत्वपूर्ण बैठक , देखिए वीडियो

 

कपरवान का कहना है कि उन्हीं की तरह झांसे में आकर राज्य के कुछ प्रभावशाली नेताओं, रिटायर्ड आइएएस व आईपीएस अफसरों ने भी आम आदमी पार्टी ज्वॉइन की लेकिन अधिकांश को आप की ‘अंदरूनी हकीकत’ और ‘हिडन एजेंडा’ समझ आ गया है। आने वाले दिनों में इनमें से कई लोग आप का साथ छोड़ देंगे।

Ad
Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top