UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-चारधाम को लेकर अब ये आदेश किया गया जारी , अब ये जा सकेंगे चारधाम

नैनीताल उच्च न्यायालय के आदेश के बाद उत्तराखंड शासन के धर्मस्व विभाग ने चारधाम यात्रा 2021 के लिए तीर्थ यात्रियों की संख्या निर्धारित की है। इसके संबंध में विभाग ने एसओपी जारी किया है।

18 सितंबर से शुरू हुई चारधाम यात्रा
एसओपी के अनुसार बदरीनाथ धाम हेतु के लिए 1000, श्री केदारनाथ के लिए 800, श्री गंगोत्री के लिए 600 और श्री यमुनोत्री के लिए 400 तीर्थयात्री प्रतिदिन चारों धाम पहुंच सकते हैं।शासन का कहना है कि 18 सितंबर से शुरू हुई चारधाम यात्रा में देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट www.devasthanam.uk.gov.in में पंजीकृत तीर्थयात्रियों में से प्रतिदिन कम श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। इसलिए अब यह संख्या निर्धारित की गई है।नए आदेश के अनुसार जो पंजीकृत तीर्थयात्री निर्धारित तिथि को उत्तराखंड चारधाम नहीं पहुंच रहे हैं उनके स्थान पर अन्य पंजीकृत तीर्थयात्री चारधामों में दर्शन को जा सकेंगेहाईकोर्ट के निर्देश पर राज्य सरकार, शासन की ओर से चारधाम यात्रा बेशक शुरू कर दी गई है। लेकिन सरकार शासन की ओर से चारों धाम में तीर्थयात्रियों की संख्या निर्धारित किए जाने की वजह से न सिर्फ तीर्थयात्रियों वरन बस और टैक्सी संचालकों के भी सामने मुसीबत खड़ी हो गई है।

स्थिति यह है कि चार धाम यात्रा के लिए पंजीकरण नहीं होने से दूसरे राज्यों के तीर्थयात्री न सिर्फ ट्रेनों वरन ऋषिकेश, हरिद्वार और देहरादून से बुक कराई गई टैक्सी और बसों की भी बुकिंग निरस्त करवा रहे। तीर्थयात्रियों के इस कदम ने चारधाम यात्रा के लिए बस और टैक्सी संचालित करने वाले संचालकों की चिंताएं बढ़ा दी हैं।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-उत्तरकाशी से बड़ी खबर 8 ट्रैकर समेत 11 लापता , हेलीकॉप्टर समेत SDRF की टीम की गई रवाना

उत्तराखंड परिवहन महासंघ के अध्यक्ष सुधीर राय का कहना है कि सरकार और शासन की ओर से बदरीनाथ धाम के लिए एक हजार, केदारनाथ धाम के लिए आठ सौ, गंगोत्री के लिए छह सौ और यमुनोत्री धाम के लिए चार सौ तीर्थयात्रियों की संख्या निर्धारित की गई है। चारोंधाम में इतनी कम संख्या निर्धारित किए जाने की वजह से बड़ी संख्या में तीर्थयात्री बस और टैक्सी की बुकिंग निरस्त करवा चुके हैं।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-नैनीताल के रामगढ़ में बादल फटने की खबर , कई लोगो के दबने की आ रही सूचना

तीर्थयात्रियों में तमाम ऐसे हैं जो ट्रेनों से हरिद्वार, ऋषिकेश को पहुंच गए, लेकिन चारधाम यात्रा के लिए पंजीकरण नहीं करा पाने की वजह से उन्होंने बसों और टैक्सी की बुकिंग निरस्त करा दी ।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-यहाँ दो महँगी फार्च्यूनर और स्विफ्ट कार बह गई नाले में , देखिए वीडियो

 

 

 

Ad
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top