UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-अब फ़र्ज़ी ई पास बनाकर चारधाम यात्रा में आ रहे यात्री , 18 को पकड़ा भेज दिया वापस

रुद्रप्रयाग। चारधाम यात्रा खोले जाने के बाद फर्जी तरीके से श्रद्धालु यात्रा पर आ रहे हैं। इन यात्रियों को पकड़कर पुलिस अधिनियम के तहत सख्त कार्यवाही की जा रही है। यात्री फर्जी ई-पास बनाकर यात्रा पर आ रहे हैं। सोनप्रयाग में चैकिंग के दौरान पुलिस ने ऐसे 18 यात्रियों को पकड़ा और उन पर कार्यवाही के करते हुए वापस लौटा दिया।

 

दरअसल, हाईकोर्ट की ओर से चारधाम यात्रा पर रोक हटाये जाने के साथ ही कोविड नियमों के तहत यात्रा का संचालन करने के निर्देश दिए हैं। हर दिन देश के विभिन्न राज्यों से भगवान केदारनाथ के दरबार पर सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। इन श्रद्धालुओं के पास ई-पास होने पर ही इन्हें आगे भेजा जा रहा है। तिथि के अनुसार ही श्रद्धालु केदारनाथ की यात्रा कर रहे हैं, मगर कुछ श्रद्धालु ऐसे भी हैं, जो ई-पास को फर्जी तरीके से बनाकर यात्रा पर आ रहे हैं। ऐसे ही 18 यात्रियों द्वारा गलत ई-पास दिखाने पर पुलिस ने इन सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर सोनप्रयाग से वापस लौटा दिया है।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-हल्द्वानी से अल्मोड़ा और बागेश्वर जाने वाले इस रूट से जा सकते हैं

बता दें कि केदारनाथ धाम के लिए उच्च न्यायालय के आदेश के निर्धारित एसओपी व देवस्थानम बोर्ड द्वारा जारी ई-पास के अनुसार ही यात्रियों को सोनप्रयाग से आगे जाने की अनुमति दी जा रही है। शुरूआती दो दिनों में अब तक कुल 1500 के करीब यात्रियों द्वारा बाबा केदारनाथ के दर्शन किये जा चुके हैं। यात्री अपने निर्धारित ई-पास तथा साथ में लाये जाने वाले दस्तावेजों सहित आ रहे हैं, लेकिन कुछ श्रद्वालु ऐसे भी हैं, जिनके द्वारा दिखाए जा रहे ई-पास में उनसे संबंधित डाटा गलत पाया जा रहा है और जनपद पुलिस के पास उपलब्ध केदारनाथ जाने वाले यात्रियों की सूची में भी उनके नाम नहीं हैं तथा इनके द्वारा सोनप्रयाग बैरियर पर गलत ई-पास दिखाते हुए आगे जाने की जिद की जा रही है।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-हरीश रावत ने आलाकमान से लगाई फिर गुहार , पंजाब प्रभारी पद से कर दें मुक्त , कहा मेरी मातृभूमि पुकार रही मुझे

 

जिस पर ऐसे व्यक्तियों के विरुद्ध पुलिस ने कड़ा रूख अपनाते हुए पुलिस अधिनियम के तहत कार्यवाही की जा रही है। पुलिस अधीक्षक रुद्रप्रयाग आयुष अग्रवाल ने बताया कि अब तक कुल 18 रजिस्ट्रेशन (ई-पास) गलत पाए गए हैं। ऐसे यात्रियों के विरुद्ध उत्तराखण्ड पुलिस अधिनियम की धारा 81 के तहत चालानात्मक कार्यवाही करते हुए सोनप्रयाग बैरियर से वापस भेजा गया है। उन्होंने कहा कि देवस्थानम् बोर्ड से जिन लोगों के ई-पास जारी हो रहे हैं, उनकी लिस्ट मंगवाई जा रही है और हर चैक पोस्ट पर उस लिस्ट को देकर यात्रियों के आने पर वेरीफाई किया जा रहा है। केदारनाथ में एक दिन में 800 लोगों को दर्शन करने की अनुमति है।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-नड्डा ने कौशिक से दूरभाष पर लिया राहत कार्यों का फीड बैक,संगठन के कार्यक्रम 24 तक स्थगित

 

कुछ लोग ई-पास को फर्जी तरीके से बनाकर यात्रा में जाने का प्रयास किया गया, जिन पर पुलिस की ओर से कड़ी नजर रखी जा रही है। उन्होंने देश के विभिन्न कोनों से आने वाले श्रद्धालुओं से आग्रह किया कि जिनके पास वैलिड पास हंै, वहीं यात्रा पर आंए। ऐसा कोई गलत कार्य न करें, जिससे पुलिस को कार्यवाही करनी पड़े।

Ad
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top