UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-ईगास को लेकर अनिल बलूनी की कभी तारीफ तो कभी निशाने पर ले रहे हरदा जानिए क्या बोले

 

प्रदेश में ईगास पर्व को लेकर जमकर राजनीति हुई लेकिन यह राजनीति कुछ पर्व के खत्म होने के बाद भी जारी है और हरीश रावत इसको लेकर भाजपा वालों पर निशाना साध रहे हैं हरीश रावत ने फेसबुक पर कहा कि

 

जब मैं #अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ का सांसद था तो उस समय मुझे टिहरी विकास परिषद के लोगों ने भैलो खेलने के लिए और बग्वाल में सम्मिलित होने और सांस्कृतिक कार्यक्रम का आनंद लेने के लिए बुलाया था, तो मेरा भैलो व इगास से लगभग 30- 32 साल का संबंध है।

 

 

 

 

मगर मैं बधाई देता हूंँ अपने राज्यसभा के सांसद को कि उन्होंने इगास अपने गांव में मनाकर के इगास को समाचारों की सुर्खियों में लाने का काम किया। इगास जो हमारी सांस्कृतिक विविधता व आध्यात्मिक परंपराओं का लोक पर्व है जिसके साथ कई कथानक जुड़े हुए हैं। मगर आज मैंने आदरणीय राज्यसभा #सांसद जी का बयान पढ़ा जिसमें उन्होंने कहा कि इगास उत्तराखंड की दशा को बदल देगा।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-SSP अल्मोड़ा ने जिले में पुलिसकर्मियों के कर दिए बंपर तबादले

 

 

 

 

 

चुनाव के वर्ष में #मुख्यमंत्री जी चमत्कारी घोषणा कर ही रहे हैं और ऐसा लगता है दूसरे भाजपाई भी मुख्यमंत्री को अकेले उड़न छू घोषणाएं करने का श्रेय नहीं लेना-देना चाहते हैं, क्योंकि उन्होंने यह नहीं बताया कि इगास कैसे गांव से हो रहे पलायन को रोकने और रिवर्स पलायन करवाएगी! कांग्रेस सरकार ने मेरा गांव-मेरा धन योजना, मेरा गांव-मेरी सड़क, मेरा गांव-मेरा पोखड़ा, मेरा गांव-मेरा वृक्ष जैसी योजनाएं भी प्रारंभ की।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-IFS अधिकारियों के तबादले निरस्त , कुछ और के हुए

 

 

 

 

फूलदेई-छम्मा देई का त्यौहार, उतरायणी का त्यौहार और चैतोले की परंपरा को जागृत करने के लिए अपने गांव लौटने वाली बहू-बेटी को ₹500 की एक साड़ी और ₹500 का टीका, सरकार की तरफ से देने की योजना भी लागू की। यह सारी योजनाओं जो हमारे सांस्कृतिक वैभव के साथ जुड़ी हुई हैं, जिनको वर्तमान सरकार ने बंद कर दिया है। मगर चुनाव के वक्त में भैलो के ऊपर इतनी बड़ी जिम्मेदारी सौंप दे रहे हैं कि उत्तराखंड के सारे कष्ट भैलो से दूर हो जाएंगे!

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-गन्ना मूल्य बढ़ोतरी के लिए किसानों ने सीएम धामी को कहा थैंक यू

 

 

 

उत्तराखंड के लिए स्मृति का द्वार खुल जाएगा! धन्य हैं सांसद महोदय आपने इतनी ऊंची फेंक दी है कि वहां तक तो अब माननीय मुख्यमंत्री जी फेंक ही नहीं पाएंगे और चाहे कितना ही जोर लगा लें इतना ऊंचा तो शायद #मोदी जी भी नहीं फेंक पाएंगे! खैर जब भाजपा में यह प्रतियोगिता चल ही रही है कि कौन कितना ऊंचा फेंकता है, आपको उस प्रतियोगिता में सम्मिलित होते देखकर मुझे अच्छा लगा।

Ad
Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top