UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-ना बीजेपी ना कांग्रेस , हरदा ही है इन दिनों राजनीति के केंद्र में , इसे कहते है महारथी जो जानता है कैसे राजनीति के केंद्र में रहना है

कांग्रेस ने 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर भले ही किसी को आगे नहीं किया हो लेकिन अपनी राजनीतिक गहराई और चतुराई के  बलबूते पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रदेश की सियासत को अपने तरफ केंद्रित कर दिया है

राजनीतिक सक्रियता की बात हो या सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच आरोप-प्रत्यारोप केंद्र में हरीश रावत ही हैं प्रदेश में 2022 के विधानसभा चुनाव की जंग खासी रोचक होने जा रही है इस जंग में कांग्रेस के सेनापति की भूमिका में एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ही रहने जा रहे हैं 2017 के पिछले चुनाव में भी राज्य में कांग्रेस के सेनापति के तौर पर कमान हरीश रावत के हाथों में ही थी हालांकि पिछले चुनाव में कांग्रेस को बुरी तरह से शिकस्त झेलनी पड़ी थी

लेकिन अब प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता पर काबिज भाजपा को चुनौती देने के लिए कांग्रेस पूरी ताकत से हाथ-पांव मार रही है पार्टी ने अगले विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर किसी को आगे नहीं किया है अलबत्ता पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को प्रदेश चुनाव अभियान समिति का अध्यक्ष बनाकर और उनके सुझाव पर प्रदेश संगठन में बड़े फेरबदल कर पार्टी ने उन्हें अघोषित तरीके से अगले चुनाव में बतौर सेनापति आगे कर दिया है

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-इस जिले में एसएसपी ने कर दिए बंपर तबादले

इसे रावत की काबिलियत ही कहेंगे कि उन्होंने बीते कुछ दिनों से राज्य की सियासत को अपने ही आसपास सिमटने को मजबूर कर दिया है प्रदेश की भाजपा सरकार के फैसले सत्तारूढ़ संगठन की गतिविधियों को हरीश रावत गाहे-बगाहे निशाना तो बना ही रहे हैं आरोप प्रत्यारोप से लेकर तमाम मंचों और इंटरनेट मीडिया पर खुद को केंद्र में रखने में सफल रहे हैं

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-मातली उत्तरकाशी में भगीरथी में बने टापू में फंसे 05 लोग- SDRF ने रेस्क्यू कर सुरक्षित निकाला

कांग्रेस के बागी और अब भाजपा नेताओं को निशाने पर लेते रहे रावत एक बार फिर उन्हीं नेताओं के निशाने पर हैं अपनी सक्रियता के बूते रावत यह संकेत भी दे चुके हैं कि सत्ताधारी दल भाजपा और कांग्रेस के बागियों के लिए मुश्किलें खड़ी करने में वह पीछे नहीं रहने वाले लेकिन कुल मिलाकर इतना जरूर है कि हरीश रावत जानते हैं कि कैसे राजनीति की जाती है और कैसे तमाम मीडिया से जुड़े टूल उपयोग किए जाते हैं

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-सांसद अनिल बलूनी के बयान पर कांग्रेस अध्यक्ष का पलटवार , कहा 15 दिन का समय दीजिए और हम बताएंगे कि किसके यहां हाउसफुल का बोर्ड लगेगा
Ad
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top