UTTRAKHAND NEWS

Big breaking :-नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने उठाए बड़े सवाल, कहा हो रही खाना पूर्ति

सम्पूर्ण प्रदेश में सड़क निर्माण (डामरीकरण) के नाम पर विभागों के द्वारा सिर्फ खानापूर्ति की जा रही है। करोड़ो की लागत से बनी सड़कें घटिया निर्माण और गुणवत्ताहीन होने के चलते चंद महीनों में ही दम तोड़ रही हैं। आवागमन की सुलभ सुविधा उपलब्ध कराने के नाम पर प्रशासनिक अमला ठेकेदारों के साथ सांठगांठ करके सड़क निर्माण को सजावट की तरह परोस रहे हैं |

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-Chardham Yatra 2022: चारधाम में हृदयाघात से दस श्रद्धालुओं की मौत, अब तक 92 श्रद्धालु तोड़ चुके दम

 

 

 

एक तरफ road बन रही तो दूसरी तरफ सड़क उखडने लग़ जा रही हैं। लेकिन घटिया गुणवत्ता के कारण डामरीकरण की शिकायत करने पर उक्त स्थानों पर टल्ले लगा कर लीपापोती की जा रही है कई स्थानों पर एक इंच से भी कम परत चढ़ाई गई है। कुछ स्थानों को बिना सोलिंग और सफाई के छोड़ दिया गया है। सड़क पर चलते समय पैर की ठोकर लगने से ही डामर उखड़ रहा है। जगह जगह ग्रामीण घटिया निर्माण कार्य के लिए आंदोलन कर रहे है लेकिन सरकार/ प्रशासन / विभागीय अधिकारी चुप्पी साधे है।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-उत्तरकाशी -बड़कोट, में खाई में गिरा वाहन, एसडीआरएफ उत्तराखंड पुलिस ने रात्रि में किया रेस्क्यू, 3 की मौत

 

 

अधिकारियों की मिलीभगत और सरकार और विभाग की चुप्पी से बनाई जा रही सड़कों में व्यापक भ्रष्टाचार हो रहा है।करोड़ो रूपये से बनने वाले यह सड़क भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रहा है और शासकीय राशि का जमकर बंदरबाट किया जा रहा है।शिकायतों के बाद भी ठेकेदारों और उन्हें संरक्षण देने वाले अधिकारियों पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं हो रही।कांग्रेस इस मुद्दे पर चुप नहीं बैठने वाली है। इस मुद्दे को आने वाले विधानसभा सत्र में पुरजोर तरीके से उठाएगी।
यशपाल आर्य

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top