UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-ये पांच अध्यक्षों का फार्मूला कांग्रेस को जिताएगा या लड़ाएगा , हालात तो अभी ऐसे ही लग रहे ।

Uttrakhand news – प्रदेश कांग्रेस में हालिया बदलाव से पार्टी के भीतर असंतोष सतह पर दिखने लगा है खास तौर पर पांच अध्यक्षों के फार्मूले को लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में असंतोष देखा जा रहा है पार्टी के नेताओं को लगता है कि इससे जनता के बीच गलत संदेश तो जाएगा ही साथ ही पार्टी कार्यकर्ता भी इस बात को लेकर कंफ्यूज हो जाएंगे कि उनको इसकी बात माननी है वही जिस तरह से पार्टी ने कार्यकारी अध्यक्षों का चयन किया है उसको लेकर भी सवाल उठ रहे हैं विधायक हरीश धामी के बीते रोज नाराजगी जताने के बाद वरिष्ठ कांग्रेसी नेता नवप्रभात ने मेनिफेस्टो कमेटी के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी लेने से इनकार कर दिया और पार्टी प्रभारी को इसकी जानकारी दे दी

नवप्रभात संगठन में हालिया बदलाव से नागपुर से पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय भी बदलाव के इस फार्मूले से सहमत नहीं दिख रहे हैं इस मामले में उन्होंने नई दिल्ली में प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव से मुलाकात भी की है जहां नवप्रभात सीधे तौर पर कह चुके हैं की जिसकी नेतृत्व में चुनाव लड़ा जाए वही तय करें मेनिफेस्टो यानी उन्हें सीधे तौर पर कहा कि हरीश रावत ही मेनिफेस्टो भी बना ले वहीं पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय भी अध्यक्ष बनाने के फार्मूले से संतुष्ट नहीं है वह दिल्ली में देवेंद्र यादव से मुलाकात कर इस फार्मूले से पेश आने वाली दिक्कतों के बारे में उन्हें बता चुके हैं बीते रोज कार्यकारी अध्यक्ष पद पर कुछ नाम और कोषाध्यक्ष की नियुक्ति पर नाराजगी जताते हुए इस्तीफे की चेतावनी देने वाले विधायक हरीश धामी का रूख जरूर बदल गया है लगता है हरीश रावत की डांट पड़ गई है ।

लेकिन कुल मिलाकर पार्टी के अंदर नाराजगियो का दौर जारी है और सबसे ज्यादा नाराजगी यह पांच अध्यक्षों के फार्मूले को लेकर दिखाई दे रही है सभी पार्टी के नेताओं को लगता है इससे पार्टी को फायदा कम नुकसान ज्यादा होगा।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-बीजेपी कोर कमेटी की बैठक , चुनावी रणनीति पर चर्चा , हरक - त्रिवेन्द्र भी रहे मौजूद , लेकिन बातचीत नहीं हुई
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top