UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-अभी देवस्थानम बोर्ड को लेकर स्वरूप में भी नहीं आई कमेटी , लेकिन अध्यक्ष मनोहरकान्त ध्यानी का आज फूक दिया तीर्थ पुरोहितों ने पुतला , हुआ बड़ा विरोध प्रदर्शन देखिए वीडियो

अभी सरकार ने मनोहर कांत ध्यानी की अध्यक्षता में देवस्थानम बोर्ड को लेकर कमेटी बनाई ही है लेकिन इसका विरोध शुरू हो गया है जी हां देवस्थानम बोर्ड के खिलाफ केदारनाथ धाम में तीर्थ पुरोहितों का आंदोलन लगातार उग्र हो रहा है। रविवार को पुरोहितों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन करते हुए सरकार का पुतला दहन किया।

पुरोहितों ने चेतवानी देते हुए कहा कि सरकार बोर्ड को भंग करने के बजाय इसका विस्तार कर रही है और सरकार ने घोषणा की है कि देव स्थानम के सम्बंध में उच्च स्तरीय समिति का गठन किया जाएगा, जिसे पुरोहित बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करेंगे।

पुरोहितों ने चेतावनी दी है कि यदि सरकार का बोर्ड के प्रति यही रवैया रहा तो आर-पार की लड़ाई लड़ी जाएगी। रविवार को केदारनाथ धाम में तीर्थ पुरोहितों ने सरकार के खिलाफ रैली निकालकर प्रदर्शन किया। इस दौरान तीर्थ पुरोहितों ने सरकार का पुतला दहन करते हुये कहा कि सरकार तीर्थ पुरोहितों को गुमराह कर रही है।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-10 साल का मासूम नदी की लहरों में ओझल हो गया यहाँ का है मामला

सरकार कह रही है कि तीर्थ पुरोहितों से वार्ता के लिये एक उच्च कमेटी बनाई जा रही है और उच्च कमेटी अभी बनी भी नहीं है और कमेटी का अध्यक्ष मनोहरकांत ध्यानी को बनाया गया है और मनोहर कांत ध्यानी यह बयान दे रहे हैं कि देव स्थानम बोर्ड यथावत रहेगा।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-पंजाब में कांग्रेस का सीएम परिवर्तन , उत्तराखंड बीजेपी ने ली चुटकी उत्तराखंड की परिवर्तन यात्रा का असर है पंजाब का परिवर्तन

बोर्ड के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं होगी। तीर्थ पुरोहितों ने चेतावनी देते हुये कहा कि सरकार के इस प्रकार के षडयंत्रों को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। अब तीर्थ पुरोहितों ने सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई लड़ने का मन बना लिया है। वहीं केदारनाथ धाम में तीर्थ पुरोहितों का देव स्थानम बोर्ड के खिलाफ क्रमिक अनशन भी जारी रहा। इस मौके पर केदारसभा के अध्यक्ष विनोद शुक्ला, कुबेरनाथ पोस्ती, संतोष त्रिवेदी, चमनलाल सहित अन्य तीर्थ पुरोहित मौजूद थे।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-देहरादून चारधाम यात्रा से जुड़ी बड़ी खबर वाहन संचालन के लिए आरटीओ ने जारी की नियमावली
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top