UTTRAKHAND NEWS

Big breaking :-कश्मीर में सुरक्षा बलों के हाथों मारे गए आतंकी के तार देहरादून से जुड़े, यहां से कर रहा था होटल मैनेजमेंट

कश्मीर में सुरक्षा बलों के हाथों मारे गए आतंकी के तार देहरादून से जुड़े, यहां से कर रहा था होटल मैनेजमेंट

कश्मीर में आतंकी बनने गए छात्र के तार देहरादून से जुड़े हैं। सुरक्षा बलों के हाथों मारा गया आतंकी दून के एक शिक्षण संस्थान से होटल मैनेजमेंट कर रहा था। इस पर दून पुलिस और खुफिया विभाग अलर्ट हो गया है।

कश्मीर में

आतंकवादी बनने गया युवक इदरीश अहमद सुरक्षा बलों के हाथों मारा गया । इदरीश कश्मीरी मूल का था, लेकिन देहरादून में एक निजी शिक्षण संस्थान से होटल मैनेजमेंट का कोर्स कर रहा था।

यह जानकारी मिलने के बाद अब दून पुलिस और खुफिया विभाग अलर्ट मोड पर आ गए हैं। छात्र के साथ ही पुलिस शिक्षण संस्थान का पता लगाने में जुट गई है। छात्र के अन्य साथियों के यहां होने की भी आशंका जताई जा रही है।

 

दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में सुरक्षाबलों ने लश्कर के दो आतंकियों को दो दिन पूर्व मार गिराया था। इनमें से एक इदरीश अहमद डार भी था, जो बीते छह अप्रैल को ही कश्मीर जाकर आतंकी संगठन में शामिल हो गया था।

सुरक्षाबलों से मिली जानकारी के अनुसार, इदरीश देहरादून के एक शिक्षण संस्थान से होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई कर कश्मीर लौटा था। सूत्रों के अनुसार अब दून पुलिस ने भी संस्थान का पता लगाने के लिए दो टीम लगाई हैं। साथ ही दून में रह रहे कश्मीरी छात्रों से भी संपर्क किया जा

रहा

हालांकि, अभी तक पुलिस को कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल पाई है। अधिकारियों के अनुसार देहरादून के प्रेमनगर क्षेत्र में स्थित निजी शिक्षण संस्थानों में कई कश्मीरी छात्र पढ़ रहे हैं । संभवत: इदरीश भी यहीं किसी संस्थान का छात्र रहा हो। इस मामले में पुलिस अधिक जानकारी जुटाने में जुटी है।

वर्ष 2020 में देहरादून के निजी विश्वविद्यालय में

पढ़ रहे कश्मीर के तीन छात्रों पर कार्रवाई भी की गई थी। इन छात्रों ने सेना के विरोध में आपत्तिजनक पोस्ट इंटरनेट मीडिया पर अपलोड की थी। जिस पर उन्हें निष्कासित कर दिया गया था। साथ ही सुरक्षाबलों ने भी इन छात्रों से पूछताछ की थी।

 

इससे पहले अक्टूबर 2018 में शोएब अहमद लोन नाम का बीएससी आइटी का छात्र हिजबुल मुजाहिद्दीन में शामिल हुआ था। वह देहरादून के एक निजी संस्थान से पढ़ाई कर रहा था। वह •पाकिस्तान को अपना देश बताता था।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top