दुर्घटना

Big breaking:-हिमाचल में हरिद्वार आ रही बस मलबे में दबी , रेस्क्यू में जुटा प्रशासन

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले के निगुलसेरी में नेशनल हाईवे-5 पर चीड़ जंगल के पास चट्टानें दरकने से बड़े हादसे की सूचना आी है। बताया जा रहा है कि चट्टानें गिरने से एचआरटीसी बस मलबे में दब गई। ये बस किन्नौर जिले में मूरंग-हरिद्वार रूट की है। सूचना मिलते ही प्रशासन और पुलिस की टीम मौके पर रवाना हो गई है।

एनडीआरएफ को भी रेस्क्यू के लिए बुलाया गया है। चट्टानें गिरने से कई वाहन मलबे में दब गए हैं। एचआरटीसी बस और अन्य वाहनों में कितने लोग सवार थे, अभी इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। बस मलबे के साथ ही सड़क से नीचे खाई में गिर गई है।
प्रशासनिक जानकारी के अनुसार, बस के ड्राइ‌वर इस हादसे में बच गया। उसी ने हादसे के बाद घटना स्थल से जानकारी दी। बस में 35 से 40 लोग सवार थे।

किन्नौर के भावानगर के पास ये हादसा हुआ। बस सड़क से दूर दूर तक नहीं दिख रही है।
गौरतलब है कि 25 जुलाई 2021 को किन्नौर जिले के बटसेरी में सांगला-छितकुल मार्ग पर पहाड़ी से दरकी चट्टानों की चपेट में एक पर्यटक वाहन आ गया था। हादसे में टेंपो ट्रैवलर में सवार नौ पर्यटकों की मौत हो गई थी। हादसा इतना भयानक था कि वाहन को चट्टानों ने हवा में ही उड़ा दिया था और 600 मीटर नीचे बास्पा नदी के किनारे दूसरी सड़क पर जा गिरा था।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-गोविषाण टीले के रहस्य को जानने के लिए महाराज ने केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री को पत्र भेजा

मृतकों में मां और पुत्र-पुत्री समेत 4 राजस्थान के, छत्तीसगढ़ के दो, महाराष्ट्र और दिल्ली का एक-एक पर्यटक था। सभी पर्यटक दिल्ली से ट्रैवल एजेंसी के वाहन में किन्नौर घूमने आए थे। पहाड़ी से गिरे बड़े पत्थर से बटसेरी स्थित बास्पा नदी पर बना 120 मीटर लंबा लोहे का पुल भी पलक झपकते ही धराशायी हो गया था।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-मुख्यमंत्री धामी ने यहाँ लगायी घोषणाओं की झड़ी, जन आशीर्वाद रैली के दौरान उमड़ा जनसैलाब, 2022 की तैयारी में सीएम और भाजपा
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top