Delhi news

Big breaking:-हेलीकॉप्टर क्रैश मामला , प्रत्यक्षदर्शी ने बताया की दुर्घटना के समय क्या थे हालात

दोपहर करीब 12:30 बजे यह हादसा होते देख नानजप्पनचथिराम इलाके में रहने वाला कुमार नाम का एक युवक हेलीकॉप्टर को दुर्घटनाग्रस्त होते देख पुलिस और दमकल अधिकारियों को फोन करने के लिए दौड़ पड़ा।

 

 

 

देश के रक्षा प्रमुख (cds) बिपिन रावत व 13 अन्य लोगों को ले जा रहे हेलीकॉप्टर के क्रैश होने की हृदय विदारक घटना को कुछ लोगों ने अपनी आंखों से देखी। बुधवार दोपहर यह हादसा तमिलनाडु के कुन्नूर जिले के नानजप्पनचथिराम इलाके के कट्टेरी पार्क में हुआ। जमीन पर मौजूद एक प्रत्यक्षदर्शी ने जोरदार आवाज सुनी और उसके बाद चंद लम्हों में हेलीकॉप्टर को आसमान से जमीन पर गिरते देखा। हेलीकॉप्टर आग की लपटों से घिरा हुआ था, इन्हीं लपटों के बीच तीन-चार लोग हेलीकॉप्टर से गिर रहे थे, वे खुद भी जल रहे थे

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-हेट स्पीच मामले में वसीम रिजवी के बाद अब इनकी हुई गिरफ्तारी

 

 

 

सीडीएस बिपिन रावत ऊंटी के पास वेलिंगटन डिफेंस सर्विस स्टाफ कॉलेज में लेक्चर देने जा रहे थे। हेलीकॉप्टर सुलूर एयरबेस से वेलिंगटन जा रहा था। तभी यह क्रैश हो गया। दोपहर करीब 12:30 बजे यह हादसा होते देख नानजप्पनचथिराम इलाके में रहने वाला कुमार नाम का एक युवक पुलिस और दमकल अधिकारियों को

 

 

 

 

पेड़ से टकराया, आग के लपटें मेरे घर से भी ऊपर थीं
द न्यूज मिनट्स की रिपोर्ट के मुताबिक एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी कृष्णस्वामी ने बताया, ‘मैंने हेलीकॉप्टर को नीचे आते देखा। भयानक तेज आवाज सुनाई दी। यह एक पेड़ से टकराया और तब आग लग गई थी। हेलिकॉप्टर जमीन पर गिरने से पहले पास के एक बड़े पेड़ से टकरा गया।’ कृष्णस्वामी का घर दुर्घटनास्थल से करीब 100 मीटर दूर है। कृष्णस्वामी ने बताया कि हादसा करीब 12:20 बजे हुआ। घटनास्थल घाट रोड, मेट्टुपलायम व कुन्नूर के करीब बताया गया है।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-तो क्या बीजेपी लालकुआं में मोहन सिंह बिष्ट को देने जा रही टिकट , कोर कमेटी की बैठक में हुआ हल्ला , मजबूत है मोहन सिंह बिष्ट

कृष्णस्वामी ने बताया कि क्षेत्र में रहने वाला कुमार तुरंत पुलिस व फायर ब्रिगेड का फोन करने दौड़ा। मैंने लोगों को हेलिकॉप्टर से गिरते व जलते हुए देखा तो मैं भी वहां से भाग खड़ा हुआ। हेलीकॉप्टर के जमीन पर गिरने के बाद धुएं का गुबार व आग की लपटें उठ रही थीं।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-भारतीय सेना (Indian Army) अब एक नई वर्दी के साथ और भी ज्यादा हाई जोश में दिखाई देगी।

कंबल व चादर से बनाया स्ट्रेचर
घटनास्थल पर सबसे पहले स्थनीय लोग पहुंचे और उन्होंने बाल्टियों व पाइप से पानी डालकर आग बुझाने का प्रयास किया। लोग कंबल और रजाई मंगा रहे थे, ताकि जले हुए लोगों को बचाया जा सके। कंबल और चादर से स्ट्रेचर बनाया गया। इसकी मदद से घायलों को बाहर निकाला।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top