UTTRAKHAND NEWS

Big breaking :-हरिद्वार नए कप्तान के जिले में आगमन का असर दिखने लगा, पुलिस ने 5 वर्षो से फरार ₹25000 का इनामी किया गिरफ्तार

हरिद्वार नए कप्तान के जिले में आगमन का असर दिखने लगा है।कोतवाली पुलिस द्वारा 5 वर्षो से फरार ₹25000 का इनामी गिरफ्तार

सतवीर सिंह अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग लक्सर हरिद्वार ने तहरीर दी की एसके फर्म्स द्वारा लक्सर क्षेत्र में निर्माण कार्य को लेकर 7.31 लाख के फर्जी FDR बनाकर टेंडर के लिए निवेदन किया गया जिस पर विभाग द्वारा दस्तावेजों की जांच की गई तो फार्म द्वारा जारी दाखिल किए गए एफडीआर फर्जी पाए गए जिस पर अधिशासी अभियंता द्वारा एस के फर्म के भागीदार इस्तकार अली एवम कुंवर तस्सबुर अली के विरुद्ध मुकदमा अपराध संख्या 862/18 धारा 420 467 468 471 आईपीसी पंजीकृत कराया गया.
दौराने विवेचना अभि0 इश्तेकार को पूर्व में गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है परंतु तस्सवुर अली लगातार पिछले चार-पांच वर्षों से फरार चल रहा था. तमाम विवेचक बदलते रहे परन्तु तस्सवुर अली का कुछ पता नहीं चल पाया और लगातार फरार रहा
मुकदमा काफी समय से लंबित होने के कारण इसकी मॉनिटरिंग PHQ स्तर से की जा रही थी। विवेचना में पाया कि अभियुक्त एक शातिर किस्म का अपराधी है जो लगातार अपने रहने के ठिकाने बदल कर रहता है जिससे पुलिस उसको ना पकड़ पाए परंतु अभियुक्त की तलाश में गहन सुरागरसी पतारसी एवं मुखबिर तंत्र को सक्रिय करते हुए जानकारी जुटाई गई तो पता चला कि अभि0 वर्तमान में मुजफ्फरनगर के खतौली इलाके में छिपा हुआ है जिस पर तुरंत पुलिस टीम द्वारा दबिश देते हुए हुए अभियुक्त को आज दिनांक 5.11.2022 को मुजफ्फरनगर खतौली से गिरफ्तार किया गया।
अभि0 पर  25000 का इनाम है।।।

*नाम पता अभियुक्त* कुंवर तसव्वर अली पुत्र इंशाल्लाह निवासी ग्राम केली थाना दौराला जनपद मेरठ हाल निवासी आवास विकास कॉलोनी थाना खतौली मुजफ्फरनगर उ0प्र0

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top