DEHRADUN NEWS

Big breaking:-हिमाचल से उत्तराखंड आ रहा अवैध खनन , फर्जी रवन्ना और रसीद के मामले में हो रही जांच

फर्जी रवन्ना और रसीद पर दूसरे प्रदेश से खनन लेकर आ रहे ट्रक के पकड़े जाने के बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच करने खुद मुख्य वन संरक्षक गढ़वाल सुशांत पटनायक कुल्हाल पहुंचे। उन्होंने पूरे मामले में संबंधित वन कर्मियों की भूमिका और अन्य पहलुओं पर जांच की। दरअसल, चालक के पास वन बैरियर की लगी मोहर भी फर्जी मिली थी।

 

 

 

 

उधर, वन दारोगा की तहरीर पर कुल्हाल पुलिस चौकी में ट्रक चालक और मालिक के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है।फर्जी रवन्ने और अन्य जाली कागजात के साथ उत्तराखंड में हिमाचल बार्डर पर स्थित कुल्हाल चेकपोस्ट से खनन से भरा एक ट्रक प्रवेश किया। कुल्हाल बार्डर पर वन विभाग की चौकी होने के बावजूद ट्रक के प्रदेश की सीमा में प्रवेश करने से विभाग के संबंधित अधिकारियों की कार्यशैली भी संदेह के घेरे में आ गई थी। रविवार को तिमली वन रेंज की तिपरपुर चौकी पर हरियाणा से आए अवैध खनन से भरे ट्रक को पकड़ा गया।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पहुँचे उत्तराखंड , आज और कल इन कार्यक्रमों में होंगे शामिल

 

 

 

 

कागजात की जांच की तो ट्रक ड्राइवर के पास से मिले कागजात में उत्तराखंड के वन विभाग की एक रसीद और रवन्ना मिला, जो जाली था। वनकर्मियों की जांच में पाया गया कि कागजात पर जो मुहर लगी थी वह भी असली नहीं है। इस संबंध में कुल्हाल चेकपोस्ट के वन दरोगा दिनेश कुमार सिंह ने ट्रक के अज्ञात वाहन चालक व वाहन स्वामी प्रतीक अरोड़ा निवासी बाइपास रोड देहरादून के खिलाफ धोखाधड़ी वाहन शुल्क रसीद की कूटरचना कर प्रयोग करने पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया है।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-CBSE Board Exam 2022: CBSE का महत्वपूर्ण नोटिस जारी, प्राइवेट छात्रों के लिए आया सबसे बड़ा Update , ये प्राइवेट छात्र कर सकते हैं आवेदन

 

 

 

 

 

कुल्हाल पुलिस चौकी में दी गई तहरीर में वन दारोगा ने कहा कि 14 नवंबर को करीब साढ़े तीन बजे हिमाचल प्रदेश से उपखनिज से भरा ट्रक आया, जैसे ही कुल्हाल पर मौजूद वन चेकपोस्ट पर रोकने की कोशिश की तो वह बिना अभिवहन शुल्क रसीद कटवाए भाग गया। तिपरपुर बैरियर पर सूचना भेजी गई, जहां पर खनन से भरे ट्रक को पकड़ा गया। उपखनिज से संबंधित पत्रावली चेक करने पर अभिवाहन शुल्क रसीद का सत्यापन करने पर पाया गया कि शुल्क रसीद फर्जी थी।लाखों के राजस्व का चूना लगा रहे जालसाज
फर्जी व कूटरचित दस्तावेजों पर अवैध खनन के वाहनों के राज्य में प्रवेश से सरकार को भी राजस्व हानि हो रही है।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-22 लाख चोरी के रुपयों के साथ 2 चोर गिरफ्तार , यहाँ की थी चोरी

 

 

 

 

 

वाहन में उपखनिज मानक से अधिक होने के बाद भी धर्मकांटे की पर्ची निर्धारित मानक की बनवाने का मामला काफी समय पहले पुलिस ने पकड़ा था। इस फर्जी खेल में बड़ा नेटवर्क काम कर रहा है। इसके चलते मामले की गंभीरता को देखते हुए मुख्य वन संरक्षक गढ़वाल सुशांत पटनायक खुद कुल्हाल चेकपोस्ट पहुंचे और कैंप कर पूरे मामले की तह तक जाने के लिए संबंधित अधिकारियों से पूछताछ की।

Ad
Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top