UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-कोविड नियमों का पालन करते हुए शनिवार 18 सितंबर से होगा चारधाम यात्रा का संचालन , इन नियमों का करना होगा पालन

देहरादून- उत्तराखंड चारधाम यात्रा पर लंबे समय से लगी रोक पर गुरुवार को हुई सुनवाई के बाद माननीय हाईकोर्ट ने चारधाम यात्रा पर लगी रोक को कुछ प्रतिबंधों के साथ हटा दिया है। माननीय कोर्ट ने सरकार को कोविड नियमों का पालन करते हुए प्रतिबंध के साथ शनिवार 18 सितंबर से चारधाम यात्रा शुरू करने के आदेश दिए हैं।

मुख्य न्यायाधीश की खंडपीठ ने केदारनाथ धाम में प्रतिदिन 800, बद्रीनाथ धाम में 1000, गंगोत्री में 600, यमनोत्री धाम में 400 श्रद्धालुओं को यात्रा व दर्शन करने की अनुमति दे दी है। चारधाम यात्रा करने वाले तीर्थयात्रियों को न्यायालय के अनुसार कोविड जांच की नेगेटिव रिपोर्ट और दो वैक्सीन का प्रमाण पत्र साथ लाना अनिवार्य होगा। न्यायालय ने चमोली, रुद्रप्रयाग और उत्तरकाशी जिलों में होने वाली चारधाम यात्रा के दौरान आवयश्यक्तानुसार पुलिस फोर्स लगाने को कहा है। भक्त किसी भी कुंड में स्नान नहीं कर सकेंगे।

मुख्य सचिव डॉ एसएस संधू ने सचिवालय में सीएस की बैठक के दौरान सम्बंधित सभी विभागों को निर्देश दिए कि चारधाम यात्रा के लिए समय काफी कम बचा है वे अपनी सारी तैयारियां पूरी करें। उन्होंने कहा कि चारधाम प्रदेश के लाखों व्यक्तियों के रोजगार और आजीविका का साधन है। चारधाम आने वाले सभी श्रद्धालुओं को मास्क पहनना, शारीरिक दूरी के मानक का अनुपालन कराना और सैनिटाइजेशन कराना सुनिश्चित किया जाए।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-DM के निर्देश पर यहाँ स्कूलों में होगी कोरोना सेंपलिंग

उन्होंने कहा कि माननीय हाईकोर्ट ने स्थानीय लोगों की आजीविका, कोविड नियंत्रण में होने, स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार, एसओपी का कड़ाई से पालन आदि के आधार पर चारधाम यात्रा पर लगी रोक को हटाया है। यात्रा शुरू होने से हजारों यात्रा व्यवसायियों व तीर्थ पुरोहितों समेत उत्तरकाशी, चमोली व रुद्रप्रयाग जिले के निवासियों की आजीविका पटरी पर लौट सकेगी।

Ad
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top