DEHRADUN NEWS

Big breaking:-देहरादून छावनी परिषद ने ऐसा क्या किया की राष्ट्रपति से पा गए इतना बड़ा पुरस्कार

छावनी परिषद देहरादून को स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 के तहत ‘नवाचार और सर्वोंत्तम प्रथाओं’ के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उत्तराखंड सब एरिया के डिप्टी जीओसी ब्रिगेडियर अनिर्बान दत्ता व कैंट बोर्ड की सीईओ तनु जैन को संयुक्त रूप से पुरस्कार दिया। बता दें, कैंट बोर्ड ने प्लास्टिक कचरे के निस्तारण

 

 

 

 

 

का एक नायाब तरीका निकाला है। इसे ईको ब्रिक्स में तब्दील कर निर्माण कार्यों में इस्तेमाल किया जा रहा है।कैंट बोर्ड की सीईओ तनु जैन ने समस्त स्टाफ एवं क्षेत्रवासियों का आभार जताया है। उन्होंने बताया कि 62 छावनियों में से आठ छावनियों को राष्ट्रपति पुरस्कार मिला है। इनमें से उत्तराखंड की दो छावनी परिषद, देहरादून और लैंसडौन शामिल है। सीईओ ने कहा कि इनोवेशन में दून कैंट बोर्ड को पहला रैंक मिला है। उन्होंने कहा कि कैंट बोर्ड प्लास्टिक की खाली और बेकार बोतलों से ईको ब्रिक्स बनाने का काम कर रहा है। इन बोतलों में प्लास्टिक वेस्ट भरना होता है।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-उत्तराखंड की बेटी स्नेहा राणा को मिली इंडिया ए टीम की कप्तानी

 

 

 

ऐसा करने से एक ठोस उत्पाद तैयार हो जाता है। जो काफी मजबूत होता है। इन्हें ईंटों की जगह इस्तेमाल किया जाता है। अभी तक कैंट बोर्ड ने प्लास्टिक की साढ़े चार हजार बोतल और छह हजार किलोग्राम प्लास्टिक कचरा इस्तेमाल में ला चुका है। इससे प्रेमनगर स्थित कैंट जूनियर हाईस्कूल और गढ़ी स्थित ब्लूमिंग बड्स स्कूल में पेड़ का चबूतरा, बेंच व स्टूल आदि तैयार किए गए हैं।प्लास्टिक कचरे में प्रतिदिन इजाफा हो रहा है और सवाल यह उठता है कि इसको रिसाइकिल करके किस तरह इस्तेमाल में लाया जाए।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-यहाँ 6 साल के बच्चे को गुलदार उठा कर ले जा रहा था , फिर हुआ ऐसा

 

 

मौजूदा दौर में इन ईको ब्रिक्स का इस्तेमाल कई निर्माण कार्यों में किया जा रहा है। जरूरत इस बात की है कि लोग भी आगे बढ़कर कैंट बोर्ड की मुहिम का हिस्सा बनें।

Ad
Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top