UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-कांग्रेस रैली में CDS विपिन रावत के कटआउट लगाने पर विवाद , सीएम धामी बोले जो लोग जनरल रावत जैसे जांबाज सैनिक को गली का गुंडा कहते थे आज वो उनकी तस्वीर लगाने के लिए मजबूर

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देहरादून में विजय सम्मान रैली को संबोधित किया। यहां पर बड़े-बड़े कटाउट्स लगाए गए थे। जिसमें सबसे पहले पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत इंदिरा गांधी, दूसरे नंबर पर सीडीएस बिपिन रावत और तीसरे नंबर पर खुद राहुल गांधी का बड़ा सा पोस्टर लगा था। कुछ ही देर बार पोस्टर का विवाद बढ़ गया। बीजेपी ने कांग्रेस पर इस पोस्टर को लेकर घेरा है।

 

 

 

 

बीजेपी के तमाम नेताओं ने रैली में सीडीएस बिपिन रावत के पोस्टर का इस्तेमाल करने पर हैरानी जताई हैबीजेपी आईटी सेल ने साधा निशाना
बीजेपी आईटी सेल के चीफ अमित मालवीय ने भी एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है। ये भी एक पोस्टर का वीडियो का जिसमें लिखा है कि क्या सेना को बलात्कारी कहने वाले करेंगे सेना का सम्मान। उन्होंने लिखा ‘उत्तराखंड ने कांग्रेस और राहुल गांधी के पाखंड को दर्शाते हुए रैली स्थल के रास्ते में इन पोस्टरों के साथ उनका स्वागत किया। कांग्रेस को यह समझना चाहिए कि वह वर्दी में हमारे पुरुषों को बदनाम करके फिर उनके नाम पर राजनीतिक लाभ हासिल नहीं कर सकती है। ऐसी नीच राजनीति पर शर्म आती है।’ दरअसल, उनका इशारा कन्हैया कुमार पर था जोकि अब कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं।

 

 

ये हमारी पार्टी और मोदी जी की नीतियों का परिणाम है कि जो लोग जनरल रावत जैसे जांबाज सैनिक को गली का गुंडा कहते थे आज वो उनकी तस्वीर लगाने के लिए मजबूर हैं:उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-हरक बोले बीजेपी वालो ने नहीं दी मुझे कोर ग्रुप की जानकारी , हरक के अगले मूव पर रहेगी सबकी नजर

 

 

 

कांग्रेस को शर्म आनी चाहिए- केंद्रीय मंत्री
संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने भी कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस पार्टी के पास कोई मुद्दा नहीं है, इसलिए वे केवल नाटक कर रहे हैं। वे अब उत्तराखंड में राजनीतिक लाभ के लिए रैलियों में जनरल बिपिन रावत के पोस्टर का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसके लिए कांग्रेस को शर्म आनी चाहिए। उन्होंने आगे कहा है कि जब बिपिन रावत को जनरल बनाया गया था तब कांग्रेस पार्टी ने इसका विरोध किया था, उनको सड़का का गुंडा बोलकर बयानबाजी की थी। अब उत्तराखंड में चुनाव है तो कांग्रेस पार्टी उनके पोस्टर, फोटो अपनी रैली में इस्तेमाल कर रही है। कांग्रेस पार्टी को शर्म आनी चाहिए।

कन्हैया कुमार का वो बयान
गौरतलब है कि 8 मार्च 2016 के दिन अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर छात्रों को संबोधित करते हुए कन्हैया ने कहा था, ‘कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप हमें रोकने के लिए कितनी कोशिशें करते हैं, हम मानवाधिकार उल्लंघनों के बारे में बोलेंगे। हम आर्म्स फोर्सेस स्पेशल पावर ऐक्ट के खिलाफ भी बोलेंगे। हालांकि हम अपने सैनिकों का बहुत सम्मान करते हैं, लेकिन फिर भी हम बोलेंगे कि कश्मीर में सैनिकों ने महिलाओं के साथ बलात्कार किया है।’

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक थोड़ी देर में , प्रदेश प्रभारी कर चुके हैं लगभग सब फाइनल , ये दिग्गज भी किए जा सकते हैं इधर से उधर

 

 

कन्हैया का बेतुका बयान
कन्हैया ने आगे कहा था, ‘रवांडा में एक युद्ध के दौरान 1,000 महिलाओं के साथ बलात्कार हुआ। अफ्रीका में जातीय संघर्षों के दौरान जब सैनिकों ने अन्य समूहों पर हमला किया, तो सबसे पहले उनकी महिलाओं के साथ बलात्कार किया। आप गुजरात दंगों का उदाहरण ले लीजिए। वहां महिलाएं ना केवल मारी गईं, बल्कि पहले उनके साथ बलात्कार किया गया।’

 

 

 

 

क्या बोले राहुल गांधी?
1971 की लड़ाई के 50 साल पूरे होने के मौके पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तराखंड में इस लड़ाई को लेकर कई सारी बातें कहीं। विजय दिवस के 50 साल पूरे होने के मौके पर कांग्रेस की ओर से देहरादून में आयोजित रैली को संबोधित करते राहुल गांधी ने इस लड़ाई में भारत को कैसे जीत मिली वो कारण गिनाए साथ ही केंद्र सरकार पर निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा कि विजय दिवस के मौके पर दिल्ली में कार्यक्रम हुआ और उस कार्यक्रम में जिसने 32 गोलियां झेलीं उनका नाम तक नहीं है। सच्चाई से सरकार डरती है। नाम हो या न हो इंदिरा गांधी ने अपना खून देकर इस देश के लिए क्या किया सबको पता है

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-कांग्रेस की 55 सीटें तय 15 फसी , बैठक में हरीश रावत ने प्रीतम को क्यों कहा महाराज आप भी जनाधार वाले नेता हैं आप ही इस सीट से लड़ लो

 

 

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहनाज पूनावाला ने ट्विटर पर लिखा कि ना केवल जनरल रावत के कटआउट का इस्तेमाल किया गया, बल्कि शहीद सैनिकों के साथ राहुल गांधी की हंसते हुए फोटो भी लगाई गई थी। उन्होंने लिखा, ”बेशर्म कांग्रेस ने श्रद्धांजलि दीवार पर शहीदों के साथ राहुल गांधी की तस्वीर लगाई। परिवार भक्ति के बिना वे सैनिकों का सम्मान भी नहीं कर सकते? शहीदों का अपमान। सैनिकों का अपमान कांग्रेस के डीएनए में है। उन्होंने बिपिन रावत को जी ‘सड़क का गुंडा’ कहा था।

 

 

दिसंबर को जनरल रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत और 11 अन्य सैन्यकर्मियों की हेलिकॉप्टर हादसे में मौत हो गई थी। घटना में एकमात्र जीवित बचे वायु सैनिक ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह ने भी बुधवार को बेंगलुरु के सैन्य अस्पताल में अंतिम सांस ली। जनरल रावत बीजेपी और कांग्रेस के बीच पहले ही आरोप-प्रत्यारोप की वजह बन गए हैं। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कांग्रेस पर कांग्रेस पर रक्षा कर्मियों की मौत के बाद “जश्न मनाने” का आरोप लगाया। धामी ने कहा कि जब देश शोक में था, प्रियंका गांधी गोवा में चुनाव प्रचार के लिए आदिवासी महिलाओं के साथ डांस कर रही थीं।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top