UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-कोरोना तीसरी लहर का डर लेकिन डॉक्टरों का टोटा

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच उत्तराखंड में डॉक्टरों की कमी बरकरार है। इसमें भी मुश्किल ये है कि कोरोनाकाल में नियुक्त किए डॉक्टरों में से 30 प्रतिशत ने ज्वाइन ही नहीं किया। इससे सरकार की चिंता बढ़ गई है।

पूरे देश में कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका है। केरल सहित कुछ राज्यों में कोरोना के मरीज बढ़ने भी लगे हैं। उत्तराखंड में सरकार ने तीसरी लहर से निपटने की तैयारियां पूर्व में ही शुरू कर दी थीं।  इस क्रम में राज्य सरकार ने बीती फरवरी में डॉक्टरों के करीब छह सौ पदों पर भर्ती निकाली थी।
इसमें से 403 डॉक्टरों का चयन किया गया लेकिन ज्वाइनिंग महज 286 डॉक्टरों ने दी। शेष 117 डॉक्टर विभिन्न वजहों से ज्वाइन नहीं करना चाहते।

इसे देखते हुए सरकार अब ज्वाइन न करने वाले डॉक्टरों को सूची से हटाकर, उनकी जगह वेटिंग लिस्ट से डॉक्टरों का चयन करने जा रही है। इस प्रक्रिया में भी देरी से शासन और स्वास्थ्य विभाग की कार्य प्रणाली को लेकर सवाल उठ रहे हैं। इस संबंध में सचिव स्वास्थ्य अमित नेगी का कहना है कि डॉक्टरों के पद भरने के प्रयास जारी हैं। वेटिंग लिस्ट के आधार पर खाली पद जल्द भर लिए जाएंगे।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-टिहरी झील में समाई कार, SDRF के गोताखोर ने किया 2 शव बरामद
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top