UTTRAKHAND NEWS

Big breaking :-कांग्रेस चुनाव हारी है, हिम्मत नहीं : देवेन्द्र यादव , कहा – होली बाद पराजय के कारणों की होगी समीक्षा


अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के उत्तराखण्ड प्रभारी देवेन्द्र यादव ने आज कहा प्रदेश की जनता द्वारा दिया गया जनादेश शिरोधार्य है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में कांग्रेस चुनाव हारी है लेकिन हिम्मत नहीं हारी है। कांग्रेसजनो ने पूरे मनोयोग से चुनाव अभियान में भाग लिया और पार्टी के मत प्रतिशत को बीते चुनाव की तुलना में बहुत ऊँचा पहुचाया है। 2017 में कांग्रेस को 33.5 फीसद मत मिले थे, यह इस बार बढ़ कर 37.91 फीसद हो गया है। अफ़सोस यह है कि प्रदेश में पार्टी का मत प्रतिशत तो बढ़ा लेकिन उस अनुपात में सीटें नहीं बढ़ी।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-केदारनाथ जा रहे हैं तो सिद्धपीठ कालीमठ भी जरूर जायें"

 

 

यह हमारे लिए आत्म चिन्तन का विषय है और होली के बाद चुनाव में हुई पराजय के कारणों की समीक्षा की जाएगी और जहां कमियाँ रह गई उन्हें दूर करने का भरसक प्रयास किया जाएगा। उन्होंने पार्टी के तमाम लोगों से कहा है कि वे मनोबल बनाये रखें।
यादव ने कहा कि कांग्रेसजनो ने पूरे मनोयोग से चुनाव लड़ा। इसके लिए प्रदेश से लेकर गांव स्तर के तमाम कार्यकर्ता धन्यवाद के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि एक ओर अपार धन बल का बोलबाला था और दूसरी ओर हमारे कार्यकर्ताओं की कड़ी मेहनत थी। सभी कार्यकर्ताओं ने पूरे उत्साह से चुनाव अभियान में भागीदारी की लेकिन हम उच्च मत प्रतिशत हासिल करने के बावजूद लक्ष्य प्राप्त नहीं कर पाये। यह हमारे लिए चिन्तन का विषय है और होली के बाद तमाम पहलुओं पर गंभीरता से विचार किया जाएगा।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-नहीं रहे देहरादून के पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष दीनानाथ सलूजा, विनम्र श्रद्धांजलि

 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के चुनाव अभियान के दौरान हमारे चुनाव अभियान में सभी नेताओं, सभी पदाधिकारी से लेकर गांव स्तर के कार्यकर्त्ता ने जिस समर्पण के साथ काम किया, उसकी जितनी भी प्रशंसा की जाए कम होगी।
यादव ने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से आग्रह किया है कि हार के कारणों की समीक्षा से पहले सार्वजनिक रूप से बयानबाजी से परहेज करें, अन्यथा इसे अनुशासनहीनता की श्रेणी में माना जाएगा। उन्होंने आग्रह किया है कि पार्टी नेता सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर किसी तरह की टिप्पणी करने के बजाय पार्टी के मन्च पर अपनी बात रखें क्योकि सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म पर टिप्पणी से सिर्फ और सिर्फ हमारे विरोधियों को ही फायदा होगा, इस तरह के प्रयास से पार्टी को लाभ के स्थान पर नुकसान ही होता है। उन्होंने इस सलाह का पालन करने की सभी नेताओं और कार्यकर्त्ताओं से विनम्र अपील भी की है।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-मेरा स्वभाव शांत जरूर है लेकिन मैं सख्ती वाले एक्शन करता हूं

 

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top