UTTRAKHAND NEWS

Big breaking :-मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने दिए दरोगा भर्ती की जांच के आदेश, पुलिस महकमे मे हड़कंप

Ad

मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने दिए दरोगा भर्ती की जांच के आदेश

मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने 2015-16 में हुई एसआई भर्ती की जांच के आदेश दे दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि, जांच में दोषी पाए जाने वालों पर रासुका और गैंगस्टर लगाया जाएगा और संपत्ति भी जब्त की जाएगी। इसस

मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने 2015-16 में हुई एसआई भर्ती की जांच के आदेश दे दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि, जांच में दोषी पाए जाने वालों पर रासुका और गैंगस्टर लगाया जाएगा और संपत्ति भी जब्त की जाएगी। इससे पहले शुक्रवार को पुलिस मुख्यालय ने दरोगा भर्ती की विजिलेंस या किसी दूसरी स्वतंत्र एजेंसी से जांच करवाने का प्रस्ताव सरकार को भेजा था। इस सिफारिश से इस बैच के दरोगाओं में हड़कंप मच गया है।

 

पंतनगर विश्वविद्यालय ने दरोगाओं के 339 पदों पर भर्ती परीक्षा का आयोजन किया था। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के भर्ती घपले के अलावा दो और भर्तियों की जांच एसटीएफ को मिलने के बाद 2015-16 की भर्ती पर सवाल उठाने वाली तमाम पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थीं। लगातार सवाल उठ रहे थे कि दूसरी भर्तियों में खुलासे करने वाला पुलिस महकमा अपनी ही भर्तियों की जांच क्यों नहीं कर रहा है? विभागीय सूत्रों ने बताया कि पुलिस ही पुलिसकर्मियों की जांच करती तो इस पर सवाल उठने लाजिमी थे। इसी कारण पुलिस मुख्यालय ने इसकी जांच विजिलेंस या किसी दूसरी स्वतंत्र एजेंसी से कराने का प्रस्ताव गृह विभाग को भेजा।

हाकम के साथ दो दरोगाओं के फोटो वायरल यह मामला तब उछला, जब हालिया भर्ती घपले के मुख्य आरोपी हाकम सिंह रावत के साथ वर्ष 2015 16 की भर्ती के दो दरोगाओं की फोटो वायरल हुई। सोशल मीडिया पर भर्ती के समय खुद हाकम सिंह ने इसे डाला था। इन दारोगाओं को उसने छोटा भाई कहकर संबोधित किया था और कहा था कि वह इन्हें ट्रेनिंग ज्वाइन कराने के लिए जाया है। यह भी बताया जा रहा कि ये दरोगा उस भर्ती में काफी अच्छे नंबरों से पास हुए थे। मामले के सोशल मीडिया में जोर पकड़ने के बाद पुलिस पर इस भर्ती की भी जांच कराने का दबाव बढ़ गया।

हाकम और मनराल ने कई और नाम भी बताए हालांकि, दरोगा भर्ती की जांच की मांग को पुलिस मुख्यालय ने सिर्फ भर्ती घपले में गिरफ्तार हाकम की फोटो के आधार पर नहीं माना। सूत्रों का कहना है कि एसटीएफ की पूछताछ में हाकम ने कुछ दरोगाओं के नामों का खुलासा भी किया। इसके अलावा भर्ती घपले गिरफ्तार रामनगर के खनन कारोबारी चंदन मनराल और यूपी के केंद्रपाल ने भी कई दरोगाओं के नाम एसटीएफ की पूछताछ में बताए हैं। इन सभी नामों को सबको जांच में शामिल कर लिया गया है। इसके अलावा बीते रोज गिरफ्तार पंतनगर विश्वविद्यालय के पूर्व एआरओ से पूछताछ में भी इस भर्ती से जुड़ी कुछ बातें सामने आई हैं।

17606 अभ्यर्थी शामिल हुए थे परीक्षा पांच अप्रैल 2015 में पंतनगर विश्वविद्यालय की ओर से आयोजित की गई इस परीक्षा में 17606 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। यह भर्तियों सिविल पुलिस, पीएसी और अभिसूचना में उप निरीक्षक पदों के लिए की गई थी। सफल अभ्यर्थियों में 104 महिलाएं भी शामिल थीं। भर्ती के परिणामों में टॉपरों की सूची भी जारी की गई थी।

Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top