UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-मंत्री हरक के करीबियों को चार्जशीट , क्या फिर बढ़ेगी नाराजगी

देहरादून: उत्तराखंड भवन सन्निर्माण एवं कर्मकार कल्याण बोर्ड की पूर्व सचिव दमयंती रावत अकाउंटेंट जनरल (एजी) ऑडिट टीम के निशाने पर आ गई हैं। जिससे कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत को बड़ा झटका लगा है।  उत्तराखंड सरकार ने कर्मकार कल्याण बोर्ड की पूर्व सचिव दमयंती रावत समेत ईएसआई के कुछ अधिकारियों के खिलाफ चार्जशीट दी है।

 

बताया जा रहा है कि कोटद्वार में मेडिकल कॉलेज के निर्माण में पूर्व में कार्यदायी संस्था को गलत तरीके से 20 करोड़ रुपए देने का मामला प्रकाश में आने के बाद ये कार्रवाई की गई है।दरअसल पिछले दिनों दमयंती रावत को कर्मकार बोर्ड के सचिव पद से हटा दिया गया था। इसके बाद सरकार ने बोर्ड भंग करते हुए वन मंत्री डॉ.हरक सिंह रावत को भी अध्यक्ष पद से हटा दिया था। फिर बोर्ड में हुए वित्तीय लेन-देन का एजी ऑडिट शुरू हो गया।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-सीएम पुष्कर धामी ने की श्री राम जन्म भूमि ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास से मुलाकात लिया आशीर्वाद

श्रम मंत्री हरक सिंह रावत समेत कर्मकार कल्याण बोर्ड की पूर्व सचिव पर नियमों के विरुद्ध ₹ 20 करोड़ रुपए कोटद्वार में अस्पताल बनाने के लिए सीधे कार्यदायी संस्था को दिए जाने के आरोप लगे। इस मामले में यह पाया गया था कि कर्मकार कल्याण बोर्ड की तरफ से नियमों का उल्लंघन किया गया हैवहीं टीम की जांच में आरोप सही पाए गए और कार्यदायी संस्था को रुपए वापस दिए जाने के आदेश दिए गए।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-वन विभाग के इन 18 कर्मचारियों को मिला पदोन्नति का तोहफा , देखिए लिस्ट

 

जिसके बाद कार्यदायी संस्था ने 20 करोड़ रुपए वापस दे भी दिए हैं। लेकिन नियम विरुद्ध हुए इस कार्य को देखते हुए सरकार ने इस मामले में पूर्व सचिव दमयंती रावत और साईं के चिकित्सक समेत चार लोगों के खिलाफ चार्जशीट दी है। हालांकि श्रम मंत्री हरक सिंह रावत ने इसका पुरजोर विरोध किया है और इसमें कुछ भी गलत नहीं होने की बात कही है।

Ad
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top