UTTRAKHAND NEWS

Big breaking :-मंत्री गणेश की हनक से विभाग के अधिकारी सकते में, एक झटके में 200 से ज्यादा कर्मियों और अधिकारियो का अटैचमेंट खत्म

देहरादून- उत्तराखंड में कृषि विभाग में लंबे समय से अटैचमेंट के नाम पर सुगम स्थानों पर दफ्तरों में कुर्सी जमाए कार्मिकों पर गाज गिरनी शुरू हो गई है। नवनियुक्त कृषि मंत्री गणेश जोशी ने सख्त एक्शन दिखाते हुए सालों से विभागों में जमे हुए कर्मचारियों पर हंटर चलाना शुरु कर दिया है।

 

 

 

कृषि मंत्री गणेश जोशी के निर्देश पर कृषि निदेशक गौरी शंकर ने 45 से ज्यादा अफसर और कर्मचारियों के अटैचमेंट निरस्त कर दिए हैं। साथ ही सभी कर्मचारियों को अपने मूल तैनाती पर लौटने के निर्देश दिए गए हैं। यही नहीं उद्यान मंत्री गणेश जोशी ने तबादले के बावजूद नई तैनाती पर ज्वाइन न करने वाले रेशम विभाग के निरीक्षक सुभाष के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मंत्री ने रेशम निदेशक सुभाष को निलंबन करने को कहा है। दरअसल सुभाष का कुछ महीने पहले पिथौरागढ़ तबादला हुआ था, उन्होंने वहां ज्वाइन नहीं किया। जिसके बाद मंत्री गणेश जोशी ने यह निर्देश दिए हैं।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-प्रवक्ताओ की नियुक्ति को लेकर मंत्री धन सिंह रावत ने कही बड़ी बात

 

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धांमी के निर्देशों पर मंत्री भी एक्शन में जुट गए है।ट्रांसफर पोस्टिंग की आड़ में होने वाले सबसे बड़े खेल attechemnt यानी सम्बद्ध के धंधे पर मंत्री गणेश जोशी ने करारी चोट करते हुए उद्यान विभाग के 160 कर्मियों व अधिकारियों व कृषि विभाग के 46 कर्मियों अधिकारियों का attechemnt खत्म कर दिया गया है।इसके साथ ही रेशम विभाग के एक अधिकारी जो कि इंस्पेक्टर को अलग से सस्पेंड किया गया है।ये लगातार मेडकिल लेकर गायब चल रहे थे और जमीन के धंधेबाजी में शामिल थे।मंत्री गणेश जोशी का कहना है कि अभी और सख्त एक्शन होगा

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top