UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-हरदा पर बीजेपी प्रवक्ता का वार , ना हरदा ने काम किया ना किसी को करने दिया

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता बिपिन कैंथोला उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के बयानों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उत्तराखंड बनने के बाद से हरीश रावत ने न कभी खुद कोई काम किया ना किसी ओर को करने दिया हरीश रावत केवल बयानवीर नेता साबित हुवे, उन्होने कभी नारायणदत्त तिवारी के खिलाफ मोर्चा खोला तो कभी बहुगुणा के तिवारी को तो वो हिला न सके लेकिन बहुगुणा को बदलाव कर उनको मौका मिला, उत्तराखंड में हरीश रावत फेल मुख्यमंत्री साबित हुवे हमेशा ही हरीश रावत अपनी पार्टी व मुख्यमंत्री के खिलाफ चिठिपत्री व धरना देने का काम करके उत्तराखंड में राजनीतिक अस्थिरता का काम करते रहे ,रावत दूसरे के शासन का हिसाब तो मांगते है लेकिन अपने किए गये जनविरोधी कामो को नही बताते है उन्होंने पतित पावनी माँ गंगा को अपने चहेतों का खनन उद्योग चलाने के लिए नहर घोषित कर देने का घ्रणित काम किया है, जिससे देश ही नही विदेश में रहने वाले करोड़ों सनातनी व माँ गंगा के भक्तों को गहरा धक्का लगा था, यह घोर पॉप करके रावत सोचते है कि वो बच निकलेंगे तो उनकी गलत फहमी है ,कैंथोला ने कहा रावत केवल भीड़ में मुनादी पीटने वाले नेता साबित हुवे है उत्तराखंड व देवभूमि को शर्मसार करने वाले काम रावत ने अपने कार्यकाल में किये चाहे उत्तराखंड को 2013 तक मिले विसेष राज्य का दर्जा वापस लेने के अपनी केंद्र सरकार के जनविरोधी उत्तराखंड विरोधी कार्य के आगे केंद्रीय मंत्री रहते हुवे मुँह बन्द रखकर मोनी बाबा बनना हो ,या अपनी सरकार बचाने के लिए एक स्टिंग में कहना हो कि मै आँखे बंद कर लूंगा जिसे जो करना हो कर ले , कहने वाले धृतराष्ट्र जैसा नेता उत्तराखंड में क्या कर सकता है वह उत्तराखंड की जनता बखूबी देख चुकी है रावत ने हमेशा उत्तराखंड के भोली भाली जनता को छलने का काम किया है कैंथोला ने कहा कि रावत की यादाश्त कमजोर हो सकती है परंतु उत्तराखंड के लोग भूले नही है कि हरीश रावत राज में यह प्रदेश हड़ताली प्रदेश बन गया था, कोई अधिकारी पहाड़ पोशटिंग में जाने को तैयार नही था, सभी विभागों के लोग अन्य विभागों में अटैच होकर सैर सपाटे में व्यस्त थे, ओर रावत अपने पत्नी, पुत्री ,पुत्रों, साले व सलाहकारों को सेट करने में लगे रहे लेकिन न उत्तराखंड की राजनीति में रावत सफल हो पाए ना उनका परिवार और न सलाहकार कैंथोला ने कहा कि उत्तराखंड की जनता एक बार तो रावत को खारिज कर चुके है फिर से रावत बयानवीर बनकर मीडिया सोशल मीडिया में आ रहे है लेकिन उत्तराखंड की जनता उनके बयानों व उनके मुनादी के खेल को अछि तरह समझती है , अब जनता रावत जैसे आँख बंद करके अपने प्रदेश को लुटवाने वालों के बरगलाने में आने वाली नही है, जैसा जबाब उनको 2017 में मिला उससे भी करारा झटका जनता ऐसे मौकापरस्त नेता को जरूर देगी।

कैंथोला ने कहा कि अब रावत उत्तराखंड में डबल इंजन सरकार के द्वारा कराए गए अभूतपूर्व विकास कार्यों को देखकर बोरा कर अर्नगल बयानबाजी कर रहे है उन्हें अपनी सरकार के दौरान कराए गए विकास कार्यों पर स्वेतपत्र जारी करना चाहिए तो दूध का दूध व पानी का पानी ही जायेगा,केवल कोरी बयानबाजी करके बयानवीर अपनी सरकार कराए गए पापकर्मों से बच नही सकते ।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-राजाजी नेशनल पार्क प्रबंधन ने रेलवे को क्यों किया सचेत , अब रेलवे ने ये लिया बड़ा फैसला
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top