UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-किसानों को साधने में जुटी बीजेपी , गन्ना मूल्य बढ़ाने के बाद अब उत्तराखंड समेत ये राज्य करने वाले हैं ये बड़ी घोषणा

 

बीजेपी की सरकारें किसानों को साधने में जुटी हुई है ऐसे में उत्तराखंड सरकार ने सोमवार को जहां एकमुश्त ₹28 गन्ना मूल्य बढ़ा दिया जो उत्तर प्रदेश से ₹5 ज्यादा है इससे पता लगता है कि बीजेपी आलाकमान ने गन्ना किसानों के साथ-साथ किसानों को साधने के लिए अब राज्य सरकारों को फ्री हैंड दे दिया है माना जा रहा है कि जल्द ही सरकार एक और बड़ा फैसला ले सकती है

 

सूत्र बताते हैं कि उत्तर प्रदेश, हरियाणा व उत्तराखंड की राज्य सरकारें किसान आंदोलन के दौरान मृत किसान परिवारों के लिए मुआवजा घोषित कर सकती हैं। भाजपा नेतृत्व ने अपने राज्यों में किसानों पर दर्ज मुकदमों की वापसी की प्रक्रिया भी शुरू करने के निर्देश दिए हैं।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-Bjp के लिए नाराज फूफा साबित हो रहे हरक, हमेशा बोलते हैं "हम से किसीने पूछा ही नहीं, बोला ही नहीं"

 

 

 

 

गौरतलब है, यूपी सहित पांच राज्यों के चुनाव के मद्देनजर सरकार किसान आंदोलन को जल्द से जल्द सौहार्दपूर्ण तरीके से खत्म कराना चाहती है। पराली जलाने को अपराध की श्रेणी से बाहर करने की घोषणा इसी दिशा में कदम है। हालांकि यह प्रस्ताव सरकार किसान संगठनों से वार्ता के दौरान कई बार दे चुकी है।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-हर बार रोए हरक हर बार हरक के आंसुओं की इन्होंने चुकाई कीमत , इस बार किसपर भारी पड़ेंगे हरक के आँसू या जाएंगे व्यर्थ देखिए वीडियो

 

 

 

 

 

मृत किसान परिवारों को मुआवजा संभव
सरकार की मुख्य चिंता आंदोलन के दौरान सात सौ से अधिक किसानोंं की विभिन्न कारणों से हुई मौत का मुद्दा है। सूत्रों के मुताबिक, इसके हल के लिए भाजपाशासित राज्य अपनी ओर से मुआवजे की घोषणा कर सकते हैं। गौरतलब है कि आंदोलन के दौरान जिन किसानों की मौत हुई, उनमें ज्यादातर पंजाब के हैं। ऐसे में सरकार को पंजाब सरकार और कांग्रेस पर दबाव बनाने का अवसर भी मिलेगा।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-NEWS HEIGHT से बोले उमेश शर्मा काऊ , अपनी जिंदगी की आखिरी सांस तक बीजेपी में ही रहूँगा

 

 

 

गन्ना किसानों को साधेंगे
सरकार पश्चिमी यूपी के गन्ना किसानों को साधने के लिए अहम घोषणा करना चाहती है, इसके लिए शीर्ष स्तर पर माथापच्ची चल रही है।

एमएसपी पर कानूनी गारंटी आंदोलन का मुख्य मुद्दा है। आरएसएस से जुड़ा भारतीय किसान संगठन भी यही चाहता है। सरकार वार्ता के दौरान प्रधानमंत्री की घोषणा के अनुरूप गठित की जाने वाली कमेटी में इस मुद्दे को भी शामिल करने का प्रस्ताव रख सकती है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top