National news

Big breaking :-लाखों कर्मचारियों को बड़ा झटका: DA की पिछली तीन राहत किस्त जारी करने से केंद्र सरकार का इनकार

वित्त मंत्रालय ने पेंशनभोगियों से तत्काल राहत कार्य के लिए सरकार के व्यय नियंत्रण उपायों के हिस्से के रूप में कोविड-19 महामारी के चरम दिनों के दौरान वापस रखी गई महंगाई राहत (डीआर) की तीन किस्तों को जारी करने के अनुरोध को ठुकरा दिया।

इस बात की जानकारी रखने वाले दो लोगों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि यह अनुमान है कि केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए डीआर (पेंशनभोगियों के लिए) र महंगाई भत्ता (डीए) की कुल राशि लगभग 34,000 करोड़ रुपये है। पेंशन नियमों की समीक्षा के लिए स्वैच्छिक एजेंसियों की स्थायी समिति की 32वीं बैठक में व्यय विभाग (डीओई) के एक प्रतिनिधि ने स्पष्ट किया कि पिछले डीए और डीआर की राशि को जारी नहीं किया जाएगा। डीओई केंद्रीय वित्त मंत्रालय की एक शाखा है। सोमवार को हुई बैठक

इस बात की जानकारी रखने वाले दो लोगों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि यह अनुमान है कि केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए डीआर (पेंशनभोगियों के लिए) और महंगाई भत्ता (डीए) की लगभग 34,000 करोड़ रुपये है। पेंशन नियमों की कुल राशि समीक्षा के लिए स्वैच्छिक एजेंसियों की स्थायी समिति की 32वीं बैठक में व्यय विभाग (डीओई) के एक प्रतिनिधि ने स्पष्ट किया कि पिछले डीए और डीआर की राशि को जारी नहीं किया जाएगा। डीओई केंद्रीय वित्त मंत्रालय की एक शाखा है। हुई बैठक की अध्यक्षता केंद्रीय पेंशनभोगी कल्याण मंत्री जितेंद्र सिंह ने की।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-Shaniwar Upay : इस शनिवार इन 5 राशियों के जातक भूलकर भी न करें ये काम, शनिदेव हो सकते हैं नाराज

डीए और डीआर भत्तों में तीन वृद्धि

वित्त मंत्रालय और डीओई ने इस संबंध में भेजे गए ईमेल प्रश्नों का कोई जवाब नहीं दिया। 21 जुलाई को प्रतिबंध (फ्रीज) हटाए जाने के बाद डीए और डीआर भत्तों में तीन वृद्धि देखी गई है जो प्रभावी रूप से उन्हें दोगुना कर देती है। कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, ‘पेंशन विभाग पेंशनभोगियों के कल्याण की देखभाल करता है और कई स्तरों पर उनकी शिकायतों का त्वरित तरीके से समाधान करता है। लेकिन डीए और डीआर का वितरण मंत्रालय के दायरे में नहीं आता है।’

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-मंत्री रेखा आर्य ने लिखा खाद्य सचिव को कड़ा पत्र, दिए ये निर्देश

अप्रैल 2020 से डीए और डीआर फ्रीज

कोविड – 19 महामारी के भारत में आने के एक महीने बाद सरकार ने अप्रैल 2020 से डीए और डीआर को फ्रीज कर दिया था। दूसरे व्यक्ति के अनुसार, ‘कोविड-19 महामारी के कारण उत्पन्न अभूतपूर्व स्थिति को देखते हुए केंद्र सरकार के कर्मचारियों को डीए और पेंशनभोगियों को डीआर की 1 जनवरी 2020, 1 जुलाई 2020 और 1 जनवरी 2021 को देय तीन किस्तें जमी हुई हैं। ‘

राहत भरा शुक्रवार: पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी, परभणी से 18 रुपये सस्ता है दिल्ली में पेट्रोल

अगस्त 2021 में राज्यसभा में वित्त मंत्री निर्मला

सीतारमण ने कहा कि इससे लगभग ₹34,402

करोड़ रुपये की बचत हुई।भारत पेंशनर्स समाज के

महासचिव एस.सी. माहेश्वरी ने दावा किया कि जमा

राशि ब्याज सहित 36,000 करोड़ रुपये से अधिक हो

सकती है। कम से कम उन्हें (सरकार) को पेंशनभोगियों

के लिए बकाया भुगतान करना चाहिए क्योंकि उनके

पास जीवित रहने के लिए कोई अन्य साधन नहीं है।

उन्होंने कहा कि

पेंशनभोगियों से संबंधित कई अन्य मुद्दे भी हैं, जिन्हें भी उठाया गया। उदाहरण के लिए अपर्याप्त स्वास्थ्य सुविधाएं और खराब सीजीएचएस प्रणाली। हमने देश की सेवा की, अब हम सेवानिवृत्त हो गए हैं। उन्हें सभी लोगों के साथ समान व्यवहार करना चाहिए। एक अन्य सरकारी अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि सभी सरकारी कर्मचारियों के लिए भत्ते पर रोक लगा दी गई है।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-दादरी जमीन मामले में इन्हें मिली बड़ी राहत, जानिए कोर्ट ने क्या दिए आदेश

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने इस साल 30 मार्च को केंद्र सरकार के 47.7 लाख कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ते (डीए) को तीन प्रतिशत बढ़ाकर 34% कर दिया जो 68.6 लाख पेंशनभोगियों के लिए महंगाई राहत (डीआर) में भी समान रूप से लागू हुआ। कैबिनेट की बैठक के बाद जारी एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, ‘महंगाई भत्ता और महंगाई राहत दोनों के कारण राजकोष पर संयुक्त प्रभाव ₹9,544.50 करोड़ रुपये प्रति वर्ष होगा।’ इससे पहले, अक्तूबर 2021 में सरकार द्वारा डीए और डीआर को तीन प्रतिशत अंक बढ़ाकर 31% करने के बाद नवीनतम बढ़ोतरी की घोषणा पांच महीने के भीतर हुई है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top