National news

Big breaking :-सावधान! पेंशन आनी हो जाएगी बंद, अगर 28 फरवरी से पहले नहीं किया ये जरूरी काम

 

सावधान! पेंशन आनी हो जाएगी बंद, अगर 28 फरवरी से पहले नहीं किया ये जरूरी काम

 

 

Jeevan Pramaan Patra पेंशनर्स अगर 28 फरवरी 2022 तक अपना जीवन प्रमाण पत्र या जीवन प्रमाण पत्र जमा नहीं कराते हैं तो उनकी पेंशन रुक जाएगी। इसके लिए जरूरी है कि जीवन प्रमाण पत्र जमा करा लें। यह काम आप घर बैठे भी कर सकते हैं।

 

पेंशनर्स को अपनी पेंशन पाते रहने के लिए आवश्यक है कि वह अपना जीवन प्रमाण पत्र समय पर जमा करें। सरकारी पेंशनभोगियों के लिए अपना वार्षिक जीवन प्रमाण पत्र (Jeevan Pramaan Patra) या जीवन प्रमाण पत्र जमा करने के लिए समय सीमा 28 फरवरी, 2022 निर्धारित की गई है। आम तौर पर जीवन प्रमाण पत्र जमा करने की आखिरी तारीख हर साल 30 नवंबर होती है लेकिन सरकारी पेंशनभोगियों को एक बड़ी राहत देते हुए इस साल दो बार तारीख बढ़ाई गई थी। ऐसे में अब 28 फरवरी इसके लिए आखिरी तारीख है। अगर समय सीमा से पहले जीवन प्रमाण पत्र जमा नहीं किया गया तो पेंसन रुक जाएगी। ऐसे में आप घर बैठे भी जीवन प्रमाण पत्र जमा कर सकते हैं। इसके लिए आपको डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र जनरेट करना होगा।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-माँ के बहते रहे आँसू, उत्तराखंड पुलिस को देती रही बार बार धन्यवाद जानिए क्यों

 

 

 

डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र

पेंशनर्स घर बैठे डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र जनरेट कर सकते हैं, यह बायोमेट्रिक-सक्षम होता हैइसलिए पेंशनभोगियों को संवितरण एजेंसी के कार्यालय जाने की आवश्यकता नहीं होगी। यह आधार-सक्षम बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण तकनीक का उपयोग करके उत्पन्न किया जा सकता है। जीवन प्रमाण वेबसाइट के अनुसार, “जीवन प्रमाण पेंशनभोगी के बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के लिए आधार प्लेटफॉर्म का उपयोग करता है। एक सफल प्रमाणीकरण डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट जेनरेट करता है, जो लाइफ सर्टिफिकेट रिपोजिटरी में स्टोर हो जाता है। पेंशन संवितरण एजेंसियां ​​प्रमाण पत्र को ऑनलाइन एक्सेस कर सकती हैं।” आप इसे जीवन प्रमाण ऐप से जनरेट कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-150 लोगों से सरकारी कर्मियों ने मांगी रिश्वत तो जाने क्या पकडे गए ये रिश्वतखोर

पेंशनभोगी जीवन प्रमाण ऐप पर कैसे पंजीकरण करें?

जीवन प्रमाण ऐप डाउनलोड करें। पंजीकरण करें। आधार संख्या, बैंक खाता संख्या, नाम, पेंशन भुगतान आदेश (पीपीओ) दर्ज करें। सत्यापन प्रक्रिया शुरू करने के लिए, ओटीपी भेजने का विकल्प चुनें। ओटीपी नंबर दर्ज करें। आधार का उपयोग करके इसे प्रमाणित किया जाएगा। ओटीपी जमा करने और सत्यापन सफल होने के बाद आपको एक प्रमाण आईडी प्राप्त होगी। अब आपको डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट जनरेट करना होगा।
कैसे जनरेट करें डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट?

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-गर्मी से बेहाल लोगों के लिए राहतभरी खबर है, उत्तराखंड में इस साल मानसून इस तारीख तक दें सकता हैं दस्तक

प्रमाण आईडी का उपयोग करते हुए जीवन प्रमाण ऐप में लॉग इन करें। ‘जेनरेट जीवन प्रमाण’ विकल्प पर क्लिक करें। आधार और मोबाइल नंबर दर्ज करें। जनरेट ओटीपी विकल्प पर क्लिक करें और वही दर्ज करें। पीपीओ नंबर, पेंशनभोगी का नाम, वितरण एजेंसी का नाम दर्ज करें। उपयोगकर्ता के फिंगरप्रिंट या आईरिस को स्कैन करें। आधार डेटा का उपयोग करके यह उन्हें प्रमाणित करेगा। इसके बाद जीवन प्रमाण पत्र डिस्प्ले पर फ्लैश होगा। उपयोगकर्ता को उनके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक पुष्टिकरण संदेश भी प्राप्त होगा। यह जीवन प्रमाण पत्र खुद से ही संवितरण एजेंसी के साथ शेयर हो जाएगा।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top