UTTRAKHAND NEWS

Big breaking :-बन गया इतिहास ऋतू खंडूरी भूषण बनी उत्तराखंड विधानसभा की पहली महिला स्पीकर

उत्तराखंड में आज बन गया इतिहास रितु खंडूरी भूषण को उत्तराखंड में निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष घोषित कर दिया गया है ऐसे में प्रोटेम स्पीकर बंशी धर भगत ने इसकी घोषणा की कांग्रेस ने कोई प्रत्याशी खड़ा नहीं किया है

 

मूल रूप से उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल के राधाबल्लभ पुरम गांव के रहने वाले उनके पिता मेजर जनरल (रिटा.) भुवन चंद्र खंडूरी एक फौजी ऑफिसर थे. फौज से रिटायरमेंट होने के बाद उन्होंने लोकसभा चुनाव लड़ा और जीते.वह वाजपेयी सरकार में मंत्री भी बने. ऋतुखंडूरी का जन्म नैनीताल में 29 जनवरी 1965 को एक फौजी परिवार में हुआ. ऋतु ने मेरठ के रघुनाथ गर्ल्स कॉलेज से अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की उसके बाद राजस्थान विश्वविद्यालय से पोस्ट ग्रेजुएशन और दिल्ली से पत्रकारिता में डिप्लोमा किया.

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-दादरी जमीन मामले में इन्हें मिली बड़ी राहत, जानिए कोर्ट ने क्या दिए आदेश

आईएएस हैं ऋतु के पति
ऋतु खंडूरी के पति राजेश भूषण बिहार कैडर के आईएएस अधिकारी हैं. ऋतु के पति राजेश भूषण बेंजवाल आईएएस अधिकारी हैं और वर्तमान में वे मोदी सरकार में केंद्र में स्वास्थ्य सचिव के पद पर तैनात हैं. बीजेपी नेता लंबे समय से समाजसेवा में भी ऐक्टिव रही हैं. कर्णप्रयाग-पोखरी मोटर मार्ग पर स्थित खाल गांव में ऋतु की ससुराल का पुश्तैनी मकान भी है.

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-हरदा को सड़क पर दिखे गड्ढे तो विरोध में बैठ गए धरने पर

 

56 वर्षीय ऋतु ने 1986 में मेरठ यूनिवर्सिटी के रघुनाथ गर्ल्स कॉलेज से बीए ऑनर्स की डिग्री ली थी. सेना से रिटायर होकर सियासत में आए उनके पिता बीसी खंडूरी 2007 से 2009 और फिर 2011 से 2012 के बीच उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे. वह सांसद और केंद्रीय मंत्री भी रहे. 2012 के चुनाव में ‘खंडूरी है ज़रूरी’ के नारे के बावजूद वह कोटद्वार सीट से सुरेंद्र सिंह नेगी के खिलाफ हार गए थे. यहां से उनका राजनीतिक सफर लगभग समाप्त हुआ.

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-गर्मी से बेहाल लोगों के लिए राहतभरी खबर है, उत्तराखंड में इस साल मानसून इस तारीख तक दें सकता हैं दस्तक

उनकी विरासत संभालते हुए ऋतु ने राजनीति में कदम रखा और 2017 में पहली बार चुनाव लड़ा. यमकेश्वर से जीत हासिल करने के बाद वह 2022 में कोटद्वार सीट से नेगी के ही खिलाफ चुनाव मैदान में उतरीं और उन्होंने अपने पिता की हार का बदला ले लिया. ऋतु के भाई मनीष खंडूरी कांग्रेस में हैं. गढ़वाल सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ चुके मनीष जीत नहीं पाए थे.

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top