UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-बिजली कर्मियों की जनता से अपील , मोमबत्ती , टॉर्च का इंतजाम कर लें

पुरानी पेंशन व्यवस्था की बहाली ,ग्रेडपे एसीपी, संविदा कर्मचारियों की स्थाई नियुक्ति जैसी मांगों को लेकर उत्तराखंड विद्युत अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा ने 26 जुलाई से हड़ताल करने की घोषणा की

इसके साथ ही कर्मचारी संयुक्त मोर्चा ने प्रदेश की जनता से एक अपील भी की है जिसमें कर्मचारियों ने कई जगहों पर एक पोस्टर चस्पा किया है। जिसमें लिखा है की  विद्युत कर्मचारी हड़ताल पर रहेंगे। लिहाजा लोग अपने घरों में टॉर्च और मोमबत्तियां की व्यवस्था कर ले।

जगह-जगह चस्पा किए गए इस अपील में लिखा हुआ है कि “उत्तराखंड विद्युत अधिकारी एवं कर्मचारी संयुक्त मोर्चा द्वारा 26-27 जुलाई 2021 मध्य रात्रि 12:00 बजे से होने वाली हड़ताल के मद्देनजर संयुक्त मोर्चा आपसे निवेदन करता है कि आप सभी लोग अपने अपने स्तर से उचित व्यवस्था करें (जैसे कि मोबाइल फोन की चार्जिंग, टॉर्च इत्यादि की व्यवस्था करना सुनिश्चित करें।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-मुख्यमंत्री ने किया मसूरी विधानसभा क्षेत्र की 70 करोड़ रूपये की योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास , मसूरी विधानसभा क्षेत्र के लिए मुख्यमंत्री ने की 14 घोषणाएं

ताकि विद्युत बाधित होने की स्थिति में किसी भी अप्रिय घटना का सामना ना करना पड़े तथा आप सभी सम्मानित जनता से यह भी निवेदन है कि विद्युत अधिकारी कर्मचारी संयुक्त संघर्ष मोर्च हड़ताल नहीं करना चाहता है परंतु मोर्चा अपने उचित एवं पूर्व से मिल रही व्यवस्थाओं के हटाए जाने पर हड़ताल के लिए बाध्य है अतः आपसे सभी से निवेदन है कि टॉर्च एवं कैंडल्स की व्यवस्था करना सुनिश्चित करें

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-अब फ़र्ज़ी ई पास बनाकर चारधाम यात्रा में आ रहे यात्री , 18 को पकड़ा भेज दिया वापस

”उत्तराखंड पावर जूनियर इंजीनियर एसोसिएशन के सचिव संदीप शर्मा का कहना है कि प्रदेश के कोने-कोने से कर्मचारी इस धरना प्रदर्शन में शामिल होंगे और ऊर्जा भवन तक जुलूस निकालेंगे। उनका कहना है कि अगर सरकार ने उनकी 14 सूत्रीय मांगों पर जल्द फैसला नहीं किया तो कर्मचारी 27 जुलाई से हड़ताल पर चले जाएंगे।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:- चारधाम में आने वाले संभल जाए , 20 से 25 तक रोज बरसेंगे बादल , यहाँ सतर्क रहने के निर्देश

फिलहाल ऐसे में देखना होगा कि कर्मचारियों की मांग को लेकर सरकार क्या फैसला करती है? अगर कर्मचारी हड़ताल पर जाते हैं तो इससे विद्युत का उत्पादन, सप्लाई और अन्य कामों पर बड़ा असर पड़ सकता है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top