UTTRAKHAND NEWS

Big breaking :-लगभग 9 साल बाद हरीश रावत आज पहुंचे सतपाल महाराज के घर , राजनैतिक गालियारे में जमकर हो रही चर्चा, हरीश रावत ने सतपाल महाराज के लिए कह दी बड़ी बात

हरीश रावत और सतपाल महाराज के बीच कैसा संबंध है यह सब जानते हैं हरीश रावत मुख्यमंत्री बने तो सबसे पहले सतपाल महाराज ने कांग्रेस छोड़ दी महाराज और हरीश रावत के बीच कभी भी अच्छे संबंध नहीं रहे हैं ऐसे में आज तस्वीर सामने आई जब हरीश रावत सतपाल महाराज से मिलने उनके घर पहुंचे आपको बता दें हरीश रावत इससे पहले  1 फरवरी  2014 में सतपाल महाराज के घर गए थे ये वो समय था जब हरीश रावत को कांग्रेस ने सीएम बनाने की घोषणा कर  दी थी  तब वो उनके घर गए थे लेकिन उसके बाद उनके संबंध कैसे रहे सभी जानते हैं  आज सालों बाद सतपाल महाराज के घर हरीश रावत पहुंचे तो फिर सोशल मीडिया पर भी उन्होंने सतपाल महाराज को लेकर कुछ बातें शेयर की

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-कावड़ यात्रियों की सुरक्षा में लगेगी इतनी पुलिस, ड्रोन, CCTV से की जाएगी निगरानी

 

मैं कोरोना संक्रमण के बाद समय-समय पर इनफेक्शंस का शिकार हो जा रहा हूं, कोई न कोई इंफेक्शन मुझे रूग्ण कर दे रहा है। श्री Satpal Maharaj जी के पास इस तरीके की रुग्णता के इलाज की कई जानकारियां हैं। वो एक राजनीतिज्ञ या धर्म पुरुष ही नहीं है, बल्कि आयुर्वेद से लेकर खान-पान, नेचुरोपैथी आदि में भी उनका जबरदस्त दखल है, मुझे इसकी जानकारी है तो मैं एक विवाह समारोह में उनसे मिला था, वहां थोड़ी बात हमारी हुई थी। मधुमक्खियां कुछ ऐसा शहद तैयार करती हैं, जिससे इंफेक्शन आदि कई बीमारियों का इलाज निकलता है तो उस संदर्भ में बातचीत करने के लिए श्री सतपाल महाराज जी के दर्शनार्थ गया था, बहुत उपयोगी बातचीत हुई। बल्कि कैसे मधुमक्खी पालन को हम अपने पर्यटन का आधार बना सकते हैं जिसमें पद्म के वृक्षों से लेकर के मैदानी क्षेत्रों में जामुन और पर्वतीय क्षेत्रों के अंदर अलग-अलग प्रकार के पुष्पों के आधारित शहद आदि सब पर बातचीत हुई।

 

यह भी पढ़ें👉  Big breaking :-शिक्षा विभाग ने ये आदेश किए जारी, जानिए क्या हैं मामला

 

 

शहद में मेरी भी दिलचस्पी रही है क्योंकि मधुमक्खी पालन पर मैंने काफी अध्ययन किया है, क्योंकि ये रोजी रोटी के लिए हमारे जैसे राज्य के लिए महत्वपूर्ण क्षेत्र है तो उस पर हमारी बड़ी गहरी बातचीत हुई और साथ-साथ चटनी में महाराज की दिलचस्पी और जानकारियां, मैं जानता हूं खान-पान के वह विशेषज्ञ हैं मगर चटनी शास्त्र में भी उनका इतना गहरा दखल है, यह पहली बार मुझको जानने को मिला। खैर कभी जीवन में उनसे चटनी शास्त्र का जो ज्ञान लिया है, विशेष तौर पर मेथी का अचार कैसे बनाया जा सकता है या मेथी की चटनी कैसे बनाई जा सकती है इसका मैं उपयोग कर लोगों तक पहुंचाने का प्रयास करूंगा।
सतपाल जी आपके द्वारा दिए गए ज्ञान के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद और आप सब दोस्तों को भी आपकी उत्सुकता के लिए बहुत धन्यवाद।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top