UTTRAKHAND NEWS

Big breaking:-कीर्तिनगर इंटर कालेज में मारपीट और मौत मामले में एक शिक्षक निलंबित तो दूसरे को निलंबन की संस्तुति , व्यायाम शिक्षक के निलंबन पर भड़के शिक्षक संगठन ,कहा बेवजह बलि का बकरा बनाया जा रहा

श्रीनगर: राजकीय इंटर कॉलेज कीर्तिनगर में आपसी मारपीट के दौरान हुई छात्र की मौत मामले की जांच जारी है. ऐसे में इस मामले में पहली कार्रवाई हुई है और कॉलेज के व्यायाम शिक्षक (पीटीआई) बीर बिक्रम सिंह रावत को निलंबित कर मंडलीय अपर शिक्षा निदेशक के कार्यालय में अटैच कर दिया है.विदित हो कि 17 अगस्त को राइंका कीर्तिनगर में दो छात्रों के बीच हुई मारपीट में मलेथा निवासी आयुष नेगी (17) की देहरादून चिकित्सालय में मौत हो गई थी. इसी मामले को लेकर टिहरी डीएम ने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए थे.

जिसमें एसडीएम कीर्तिनगर को जांच अधिकारी बनाया गया है.कीर्तिनगर एसडीएम अजयवीर सिंह ने बताया कि व्यायाम शिक्षक को निलंबित कर उन्हें मंडलीय अपर शिक्षा निदेशक के कार्यालय में अटैच कर दिया है. साथ ही इस मामले में नोटिस जारी किया गया है कि जिस किसी भी व्यक्ति के पास छात्र की मौत मामले से संबंधित कोई जानकारी है तो वह एसडीएम कार्यालय में आकर लिखित या मौखिक रूप से अपने बयान दर्ज करवा सकता है.

वहीं, इस मामले कि पुलिस अपने स्तर से जांच कर रही है. जिसके बाद ही इस घटना का खुलासा हो पाएगा. इस मामले की त्रिस्तरीय जांच होनी है. जिसमें व्यायाम शिक्षक की जांच का जिम्मा खंड शिक्षा अधिकारी सुरेंद्र सिंह को सौंपा गया है. साथ ही प्रधानाचार्य की जांच मंडलीय अपर शिक्षा निदेशक महावीर सिंह बिष्ट को सौंपी गई है. जबकि, तीसरी जांच पुलिस व प्रशासन कर रही है.

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-शिक्षा विभाग में वरिष्ठ अध्यापक का वेतनमान कनिष्ठ अध्यापक से कम , अब शासन ने दिए ये निर्देश

उत्तराखंड के टिहरी जिले में कीर्तिनगर जीआईसी-टिहरी के छात्र की मौत के मामले में शिक्षक को संस्पेंड करने का विरोध शुरू हो गया। शिक्षकों ने विभाग की इस कार्रवाई पर कड़ा ऐतराज किया है। सवाल किया है कि कुछ वर्ष पहले एक मंत्री के जनता दरबार में एक व्यक्ति ने जहर खा लिया था। कुछ दिन में उस व्यक्ति की मृत्यु हो गई थी तो क्या मंत्री को भी इकस जिम्मेदार माना जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-इस जिले में एसएसपी ने कर दिए बंपर तबादले

राजकीय शिक्षक संघ के प्रदेश महामंत्री डॉ. सोहन सिंह माजिला, उपाध्यक्ष मुकेश प्रसाद बहुगुणा ने शिक्षा मंत्री, सचिव और निदेशक से कार्रवाई को वापस लेने की मांग की है। मामला 17 अगस्त का है। स्कूल की छुट्टी के वक्त छात्रों के दो गुट स्कूल परिसर में भिड़ गए। इस मारपीट में गंभीर रूप से घायल हुए आयुष नेगी की उपचार के दौरान मौत हो गई।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-यहाँ बाप ही लेकर भागा दुल्हन बेटी के जेवर , जानिए क्या है मामला

 

Ad
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top