Tech

Big breaking:-व्हाट्सएप यूजर्स की सुरक्षा को लेकर काफी सख्त, नवंबर में 17.5 लाख खातों पर लगा प्रतिबंध

व्हाट्सएप यूजर्स की सुरक्षा को लेकर काफी सख्त, नवंबर में 17.5 लाख खातों पर लगा प्रतिबंध

सोशल मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ने उल्लेख करते हुए बताया था कि 95 फीसदी से अधिक प्रतिबंध स्वचालित या बल्क मैसेजिंग के अनधिकृत उपयोग के कारण

व्हाट्सएप ने बीते शनिवार को नवंबर महीने की अपनी कंप्लायंस रिपोर्ट जारी कर दी है। जिसके तहत कंपनी ने कहा है कि उसने आईटी नियम 2021 का अनुपालन करते हुए नवंबर में भारत में 17,59,000 बैड अकाउंट पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसके अलावा व्हाट्सएप ने जानकारी देते हुए कहा कि उसे नवंबर महीने में ही 602 शिकायत रिपोर्ट मिलीं जिनमें से 36 पर कार्रवाई की गईं।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:- उत्तराखंड में आज फिर बढ़े कोरोना के मामले आज 3893 मामले आए सामने,

 

 

 

 

व्हाट्सएप ने बयान जारी करते हुए कहा कि आईटी नियम 2021 के अनुसार, हमने नवंबर महीने के लिए अपनी छठी मासिक रिपोर्ट प्रकाशित की है। इस रिपोर्ट में उपयोगकर्ता की शिकायतों का विवरण और व्हाट्सएप द्वारा की गई संबंधित कार्रवाई के साथ-साथ हमारे प्लेटफॉर्म पर दुरुपयोग से निपटने के लिए व्हाट्सएप के स्वयं के निवारक कार्यों का विवरण है। व्हाट्सएप ने अपनी हालिया रिपोर्ट में कहा है कि उसे नवंबर 2021 के दौरान अकाउंट सपोर्ट (149), प्रतिबंध अपील (357), अन्य सपोर्ट (21), उत्पाद सपोर्ट (48) और सुरक्षा (27) को लेकर कुल 602 यूजर्स की शिकायते मिलीं । इस अवधि के दौरान प्राप्त रिपोर्टों के आधार पर प्रतिबंध अपील श्रेणी के तहत 36 खातों पर कार्रवाई की गई। इससे पहले, सोशल मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ने उल्लेख करते हुए बताया था कि 95 फीसदी से अधिक प्रतिबंध स्वचालित या बल्क मैसेजिंग (स्पैम) के अनधिकृत उपयोग के कारण हैं।

यह भी पढ़ें👉  Big breaking:-कल सुबह साढ़े 9 बजे कांग्रेस को नमस्कार कर बीजेपी में शामिल हो जाएंगे किशोर उपाध्याय , बीजेपी ने तय किया उनका टिहरी से टिकट , 28 जनवरी को करेंगे नामांकन

 

 

 

 

कार्रवाई करने का अर्थ है या तो किसी खाते को रोकना या शिकायत के परिणामस्वरूप पूर्व में प्रतिबंधित खाते को बहाल करना। अगर आपको अपना अकाउंट सुरक्षित रखना है तो इन सब अवैध गतिविधियों से बचना होगा। व्हाट्सएप ने कहा कि एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड मैसेजिंग सेवा के जरिए हमें मैसेजिंग सेवाओं के दुरुपयोग को रोकने में मदद मिलती है। पिछले कुछ वर्षों में, हमने अपने प्लेटफॉर्म पर अपने उपयोगकर्ताओं को सुरक्षित रखने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और अन्य अत्याधुनिक तकनीक, डेटा वैज्ञानिकों, विशेषज्ञों और प्रक्रियाओं में लगातार निवेश किया है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top